फिरोजपुर झिरका [अलवी अख्तर]। थाना क्षेत्र के गांव सायमीरबास में गरीब परिवारों के साथ दबंग लोगों द्वारा अवैध हथियार के बल पर मारपीट करने तथा घर में घुसकर लूटपाट की घटना को अंजाम देने का मामला सामने आया है। इस खूनी संषर्घ में 10 लोग घायल हुए हैं। दरअसल लड़ाई झगड़े की असली वजह पीड़ित  परिवारों द्वारा हारे हुए कैंडिडेट को वोट न देना था। इसी बात को लेकर आरोपित पक्ष रंजिश रखे हुए थे।

लाठी- डंडों से किया हमला

रविवार को मौका पड़ते ही दबंगों ने गरीब परिवारों पर लाठी-डंडों के बल पर हमला बोल दिया और पीड़ित पक्ष की महिला तथा बच्चों सहित अन्य व्यक्तियों को लहूलुहान कर दिया। घायलों को उपचार हेतु अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। इनमें एक व्यक्ति को फायरिंग के दौरान गोली लगने तथा एक गर्भवती महिला को गंभीर चोटें आने पर इन दोनों की हालत नाजुक बताई जा रही है। पुलिस द्वारा गांव में जाकर लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की जा रही है। कार्यवाहक एसएचओ सुरेन्द्र सिंह ने आवश्यक कार्रवाई की बात कही है।

चुनाव परिणाम के बाद से जारी है झगड़े का क्रम 

बता दें कि चुनाव परिणाम आने के बाद से ही क्षेत्र में लड़ाई झगड़ों का क्रम जारी है। इससे पहले थाना क्षेत्र के कई गांवों में हारने तथा जीतने वाले सरपंच समर्थकों में जमकर खूनी संघर्ष हुआ था। दो-तीन दिन मामला शांत रहने के बाद रविवार को सायमीरबास में दो पक्षों में चुनावी रंजिश को लेकर खूनी संघर्ष हो गया। गांव के एक गरीब पीड़ित ने बताया कि हारे हुए पार्टी के लोग उससे तथा उसके परिवार के लोगों से चुनाव परिणाम आने के बाद से ही रंजिश रखे हुए थे। रविवार को मौका पड़ते ही आरोपित पक्ष के लोगों ने लाठी-डंडों तथा हथियारों से लैस होकर उनके ऊपर जानलेवा हमला बोल दिया।

फायरिंग में एक युवक हुआ घायल

आरोप है कि आरोपितों ने पहले तो उनके ऊपर जमकर लाठिया और पत्थर बरसाए फिर बाद में अवैध हथियार से फायरिंग कर एक युवक को घायल कर दिया। आरोप है कि आरोपित पक्ष के लोगों ने हथियार के बल पर न केवल लूटपाट की बल्कि उनकी महिलाओं तथा बच्चों को भी बुरी तरह से मारा पीटा। वहीं, दूसरी तरफ से ही कुछ लोग घायल हुए हैं। पुलिस द्वारा गांव में स्थिति पर नियंत्रण पाने तथा कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए दोनों पक्षों से शांति की अपील की है।

Edited By: Prateek Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट