नूंह, जागरण संवाददाता। कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए जिला एवं सत्र न्यायधीश नीरजा कुलवंत कल्सन ने 12 जुलाई तक जिले की सभी अदालतों को बंद रखने के निर्देश दिए हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी की गई एडवाइजरी के बाद ही जिला एवं सत्र न्यायधीश द्वारा यह निर्णय लिया गया है। इस संबंध में न्यायिक अधिकारियों, कर्मचारियों व बार एसोसिएशन के सभी प्रधान व उपप्रधान और अन्य पदाधिकारियों को पत्र के माध्यम से अवगत करा दिया गया है।

दरअसल बीते दिनों अदालत का एक कर्मचारी कोरोना पॉजीटिव पाया गया था। ऐसे में जिला एवं सत्र न्यायधीश द्वारा इसकी रोकथाम को लेकर यह कदम उठाया गया है। इस बारे में नूंह बार एसोसिएशन के उप प्रधान एडवोकेट एजाज अहमद झिमरावट ने बताया कि जिला एवं सत्र न्यायधीश द्वारा जारी किए गए पत्र में 12 जुलाई तक नोवर्क कर अदालतों को पूरी तरह बंद रखने का निर्णय लिया गया है। अति आवश्यक मामले को लेकर केवल सुनवाई होगी वो भी वीडियो कॉन्फ्रें¨सग से होगी। मजिस्ट्रेट अपने आवास से ही मामले की सुनवाई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए करेंगे।

कंटेनमेंट जोन में रहने वालों को परेशानी

उधर, गुरुग्राम में कोरोना मरीज मिलने के बाद ज्योति पार्क की गली नंबर आठ को सील कर दिया गया। करीब एक माह से गली सील है। जिससे लोग परेशान हो चुके हैं। वह अपने रोजगार स्थल पर भी नहीं जा पा रहे हैं। यहां रहने वाले संजय ने उपायुक्त को दी शिकायत में बताया कि वह किराए के मकान में रह रहे हैं। रोजगार नहीं होने से किराया भी नहीं दे रहे घर में खाने को कुछ नहीं है पत्नी बीमार उसे डॉक्टर को भी दिखाने नहीं ले जा सकते। ऐसे में प्रशासन की ओर से उन्हें मदद दी जाए। ऐसे गली में कई लोग जो रोजगार स्थल पर नहीं जा पा रहे हैं। बल्ली लगाए जाने से बाइक निकल नहीं सकती पैदल आना-जाना संभव नहीं है।

 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप