जागरण संवाददाता, महेंद्रगढ़ : स्वामी विवेकानंद जयंती पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् ने नेशनल मॉडल स्कूल महेंद्रगढ़ में विचार गोष्ठी का आयोजन किया। इसमें मुख्यवक्ता परिषद् के प्रदेश अध्यक्ष प्रमोद शास्त्री थे। शास्त्री ने कहा कि स्वामी विवेकानंद के विचार व शिक्षाएं सर्वकालिक हैं। वे भारतीय संत परम्परा के पुरोधा व युवाओं के प्रेरणा स्त्रोत हैं। शास्त्री ने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने नैराश्य में डूबे भारतीय समाज को नई राह दिखाने का काम किया। उठो, जागो और तब तक मत रुको जब तक तुम्हे मंजिल प्राप्त न हो जाये, महामंत्र को उन्होंने स्वयं धारण करके युवाओं को प्रेरित किया। शिकागो सर्वधर्म सम्मलेन में दिए वक्तव्य को सुनकर सिद्ध हो गया कि भौतिकवाद में चाहे यूरोप आगे हो पर आध्यात्म में आज भी भारत विश्व का सिरमौर है।

उन्होंने कहा कि देश के कुछ युवा जो विदेशी ताकतों के हाथों में खेलते हुए देश को जाति व धर्म के नाम पर तोड़ने का कुचक्र चलाने का प्रयास कर रहे उनसे सावधान रहते हुए स्वामी के विचारों को प्रसारित करने की आवश्यकता है। इस अवसर पर स्कूल स्टाफ व विद्यार्थियों के अलावा परिषद के कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप