जागरण संवाददाता, नारनौल : अति पिछड़ा समाज के लोगों की बैठक ¨सघाणा रोड स्थित नगर परिषद के उपप्रधान मनोज जांगड़ा के कार्यालय में पिछड़ा वर्ग के जिला अध्यक्ष रोहताश जागड़ा की अध्यक्षता में हुई। इसमें सामाजिक न्याय मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामकिशन सैन मुख्यातिथि के रूप में मौजूद थे। बैठक में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि सामाजिक न्याय मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामकिशन सैन ने कहा कि आज देश को आजाद हुए 70 वर्ष बीत गए है, लेकिन अति पिछड़े वर्ग की राजनैतिक, सामाजिक और आर्थिक हालात बद से बदतर बनी हुई है। दलित समाज को भी उनकी पूरी हिस्सेदारी नहीं मिली है। सामाजिक न्याय मोर्चा का गठन इसके लिए ही किया गया है ताकि अति पिछड़े वर्ग को राजनैतिक व सामाजिक क्षेत्र में न्याय मिल सके। उन्होंने कहा कि केंद्र में ओबीसी कोटे के वर्गीकरण से अति पिछड़े वर्ग के सैकड़ों आईएएस व आइपीएस अधिकारी बन सकेंगे। बैकलाग भर्तियां में यदि पूरा बैकलाग मिलता है तो इससे बीसीए के अनेक अधिकारी बनेंगे। वहीं डीसी रेट, एडहाक में कोटा मिलने से इन नौकरियों में भी हजारों अति पिछड़ों को रोजगार मिल सकेगा। इसलिए समाज के लोगों को एकजुट होकर संघर्ष करना होगा। इस मौके पर प्रजापत समाज के प्रधान किशन लाल लुहानिवाल, नारनौल ब्लाक के प्रधान राजेंद्र जांगड़ा, अल्पसंख्यक समाज से सरदार हरशरण ¨सह, भारत रतन जांगड़ा, महाबीर, ईश्वर, बंटी, राजू व नीटू आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran