जागरण संवाददाता, नारनौल: जिले में सरकार द्वारा निर्धारित अवधि से अधिक आयु के वाहनों को सड़कों से हटाने का अभियान चलाया जाए। स्कूली वाहनों के लिए स्कूल में जाकर एक-एक वाहन की चेकिग करें। यह निर्देश उपायुक्त अजय कुमार ने सोमवार जिला सड़क सुरक्षा एवं सुरक्षित स्कूल वाहन पालिसी समिति की बैठक में अधिकारियों को दिए।

उन्होंने कहा कि सड़क सुरक्षा के लिए जिला प्रशासन लगातार कार्य कर रहा है। लोगों को भी इस बारे में अभियान चलाकर जागरूक किया जा रहा है। पुराने वाहनों को सड़कों से हटाने के लिए अधिकारी लगातार कार्य करें तथा स्कूल बसों की चेकिग की रिपोर्ट भी भेजी जाए। आने वाला समय धुंध का समय है। ऐसे में अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि सड़कों पर सफेद पट्टी लगाई जाए। इसके अलावा सभी स्पीड ब्रेकर नियम के अनुसार बनाया जाए तथा उन पर भी मार्कर लगाया जाए ताकि दूर से ही स्पीड ब्रेकर का पता चले।

उन्होंने बीएंडआर विभाग को निर्देश दिए कि राष्ट्रीय राजमार्ग नंबर 11 बी के कार्य को सुनिश्चित किया जाए कि यह काम समय सीमा के अंदर ही हो। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि इस सड़क मार्ग पर सर्विस लेन आदि जो प्रोविजन किया है उसके बारे में भी समय-समय पर निरीक्षण करें। स्कूल कालेजों में समय-समय पर प्राथमिक उपचार की जानकारी देने के लिए कैंप का आयोजन किया जाए। इसी प्रकार सार्वजनिक स्थानों पर भी इस बारे में लोगों को जागरूक किया जाए। जिले में किसी भी रोड पर पुलिया के दोनों तरफ दीवार टूटी हुई नहीं होनी चाहिए। अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि हर पुलिया पर दीवार पर सफेदी भी की जाए ताकि अंधेरे में पुलिया का पता लग सके। नारनौल शहर के अंदर नाले के निर्माण के दौरान कहीं भी ऐसा बिदु नहीं रहना चाहिए जहां पर दुर्घटना का अंदेशा हो।

डीसी ने अधिकारियों के निर्देश दिए कि इस बैठक में जो भी मामले रखे गए हैं उसमें की गई कार्रवाई की रिपोर्ट भी अगली बैठक में लाई जाए। यह रिपोर्ट फोटो सहित प्रस्तुत की जाए। इस बैठक में प्रादेशिक परिवहन प्राधिकरण नारनौल की सचिव दर्शना भारद्वाज एसडीएम महेंद्रगढ़ दिनेश कुमार एसडीएम कनीना सुरेंद्र कुमार के अलावा विभिन्न विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे।

Edited By: Jagran