जागरण संवाददाता, नारनौल : 

ग्राम मकसूसपुर  की महिला नंबरदार द्वारा जहरीला पदार्थ खाकर जान देने के मामले में मृतका के परिवारजनों ने गहली  पुलिस पर आरोपितों को गिरफ्तार नहीं करने का आरोप लगाया है। इसके खिलाफ परिजन ग्रामीणों के सहयोग से 10  सितंबर को प्रात: 11  बजे नारनौल  में विरोध प्रदर्शन करेंगे।

रविवार को रेवाड़ी  रोड स्थित एक निजी होटल में मृतका के परिजनों रमेश कुमार, विक्रम ¨सह, रूपचंद, मीर¨सह, सरपंच रणबीर  फौजी, इतराम  एवं मातादीन आदि ने बताया कि गत 22  अगस्त को कविता की मौत जहरीला पदार्थ खाने से हो गई थी। तब कविता के पिता के बयान पर गांव मकसूसपुर  के प्रमोद, कृष्ण, रतन ¨सह एवं जयकुमार  के खिलाफ पुलिस में मुकदमा दर्ज कराया गया था। पिता के आरोपों के अनुसार ये आरोपित उसकी बेटी को ब्लैकमेल करते थे और उसकी नंगी तस्वीरें एवं वीडियो बनाकर उसको गांव में बदनाम करने की धमकी देते थे। उन्होंने बताया कि कविता ने इन लोगों से ही तंग  आकर जहर खा लिया। सुसाइड  नोट में भी इन लोगों का जिक्र है। उन्होंने कहा कि पुलिस आरोपितों से मिलीभगत कर चुकी है तथा साजबाज  होकर इनके विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं कर रही। जबकि पुलिस  को इन लोगों को गिरफ्तार कर मामले की सघन जांच करनी चाहिए थी। उन्होंने आरोप लगाया कि एक आरोपित जय पुलिस  महकमे में है और वह अपने प्रभाव का दुरुपयोग  कर मामले की जांच नहीं होने दे रहा। इसी के विरोध में 10  सितंबर को नारनौल  के नेताजी पार्क में ग्रामीण एकत्रित होंगे तथा विरोध प्रदर्शन करते हुए महावीर चौक से लघु सचिवालय जाएंगे। उन्होंने चेतावनी भी दी कि यदि पुलिस इन्हें गिरफ्तार नहीं करती है तो लघु सचिवालय में धरना-प्रदर्शन भी शुरू किया जाएगा।

Posted By: Jagran