जागरण संवाददाता, नारनौल: पुलिस ने पिछले एक साल में करोड़ों रुपये का तस्करी करने वालों को पकड़ने में कामयाबी हासिल की है। जिसमें बड़ी संख्या में गांजा व शराब तस्कर शामिल हैं। पुलिस अधीक्षक चंद्रमोहन के कुशल नेतृत्व में नशीले पदार्थों की तस्करी करने वालों के खिलाफ चलाए गए अभियान के तहत वर्ष 2021 में जिला पुलिस को भारी सफलता हासिल हुई। बीते वर्ष जिला पुलिस द्वारा मादक पदार्थ अधिनियम और आबकारी अधिनियम सहित 256 मामले दर्ज कर 321 नशा तस्करों को गिरफ्तार किया गया। जिला पुलिस अधीक्षक ने कहा कि वर्ष 2022 में भी नशे के खिलाफ जिला पुलिस का अभियान जारी रहेगा और नशा तस्करों को किसी कीमत पर छोड़ा नहीं जाएगा। पुलिस कप्तान ने बताया कि बीते साल जिला पुलिस ने प्रभावी ढंग से कार्रवाई करते हुए मादक पदार्थ अधिनियम के तहत नशीले पदार्थों कि तस्करी और उसके अवैध व्यापार को लेकर 34 मामले दर्ज कर 57 लोगों को गिरफ्तार किया। इस दौरान पुलिस द्वारा इनके कब्•ो से करीब 2014. 612 किलोग्राम गांजा, 205 किलोग्राम डोडा, 3.105 किलोग्राम सुल्फा, 2.180 किलोग्राम चूरापोस्त, 1924 नशीली गोलियां और भुक्की, चरस, अफीम अन्य प्रकार के नशीले पदार्थ बरामद किए गए।

जिला पुलिस द्वारा मादक पदार्थों के तस्करों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए पिछले वर्ष नशीले पदार्थ की बड़ी खेप को पकड़ने में कामयाबी मिली। जिसमें पुलिस ने कार्रवाई करते हुए बड़े नेटवर्क पर फैले इस तस्कर गिरोह का भंडाफोड़ किया। जिला पुलिस ने इस गिरोह में शामिल लोगों को तमिलनाडु, उड़ीसा और नक्सलवाद ग्रस्त इलाकों से पकड़ कर गिरफ्तार किया। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि पुलिस ने बीते वर्ष दूसरी ओर शराब तस्करों पर भी शिकंजा कसा है। जिला पुलिस द्वारा वर्ष 2021 में अवैध शराब का धंधा करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुए आबकारी अधिनियम के तहत 222 मामले दर्ज कर 264 तस्करों को गिरफ्तार किया गया। इनके कब्जे से पुलिस ने करीब 536 बोतल नाजायज शराब (हथकढ़ी), दस हजार 94 बोतल देशी शराब, 15 हजार 348 बोतल अंग्रेजी शराब 999 बोतल बियर बरामद कर जब्त की गई।

Edited By: Jagran