नारनौल, जागरण संवाददाता। महेंद्रगढ़ जिले के मंडी अटेली क्षेत्र के गांव खेड़ी में दो गुटों में हुए झगड़े के बाद बवाल हो गया, जिससे तनाव की स्थिति बन गई है। हालात ना बिगड़ें, इसलिए गांव में भारी पुलिस बल तैनात हैं। मिली जानकारी के मुताबिक, एक समुदाय के लड़कों द्वारा दूसरे समुदाय के युवक के पैर काटने के बाद यहां पर तनाव का माहौल पैदा हो गया है। 

युवक के पैर काटने पर गरमाया माहौल

जागरण संवाददाता के मुताबिक. अटेली हल्के के खेड़ी गांव में एक समुदाय के लड़कों द्वारा दूसरे समुदाय के युवक के पैर काट दिए गए। जिसके बाद दोनों समुदायों के बीच भारी बवाल मच गया है।

फिलहाल हालात काबू में

वहीं, सूचना पर मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि फिलहाल हालात काबू में हैं और लोगों को समझाने बुझाने का काम किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि पिछले दिनों मेले झगड़ा हुआ था, जिसके बाद लगातार तनाव बना हुआ था।

दो युवकों में कहासुनी को लेकर चल रहा था झगड़ा

पिछले दिनों किसी बात को लेकर दो युवकों के बीच झगड़ा हो गया था। इसके बाद दोनों गुटों के बीच तनाव था। इस बीच दो युवकों ने रात के समय में हमला कर एक युवक को घायल कर दिया। इसके बाद घायल अवस्था में उसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

खेड़ी गांव बना पुलिस छावनी

वहीं, हालात न बिगड़ें इसलिए पुलिस ने मोर्चा संभाल लिया है। भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। पूरा खेड़ी गांव पुलिस छावनी में तब्दील है।

भोजावास में गोली चलाने के मामले में एक और आरोपित गिरफ्तार

उधर, कनीना इलाके में जान से मारने की नियत से गोली चलाने के मामले में पुलिस ने एक और आरोपित गिरफ्तार किया है। आरोप है कि वह वारदात को अंजाम देने की योजना बनाने में शामिल था। इस मामले में अब तक नौ आरोपितों को गिरफ्तार किया जा चुका है। आरोपित की पहचान गांव सुंदरह के सोनू उर्फ जीपीएस के रूप में हुई है।

इस मामले में पुलिस छह आरोपित सुंदरह के विकास उर्फ सोनी, भोजावास के ओमप्रकाश, बिरोहड़ के संदीप, ढाणी फोगाट के शिशनपाल उर्फ टमाटर, हेमंत, सोमबीर और बल्ली को पहले गिरफ्तार किया गया था। मामले में दो और आरोपितों भोजावास के अनिल और दुबलधन के सतपाल को गिरफ्तार कर पुलिस रिमांड पर लिया गया था। जिनसे पुलिस पूछताछ कर रही है।

गांव गोमला के सोनू ने थाना सदर कनीना को शिकायत दी थी कि वह शाम के समय गांव भोजावास के बस अड्डा पर बर्गर खा रहा था। उसने बताया कि उसी समय अंकुर उर्फ बोगा वासी भोजावास व क्रांति वासी भोजावास और 9-10 अन्य व्यक्ति पैदल आए और चार-पांच लड़के पिस्टल, रिवाल्वर और देशी कट्टा लिए हुए थे। पीड़ित ने बताया कि अंकुर व क्रांति के साथ उसकी कुछ दिन पहले मामूली कहासुनी हुई थी।

Edited By: JP Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट