संवाद सहयोगी, सतनाली : अप्रैल माह से सीबीएसई का नया सत्र शुरू हो जाता है, परंतु इस बार लॉकडाउन के चलते मई तक सत्र शुरू होने की उम्मीद कम ही है। सीबीएसई द्वारा लॉकडाउन के दौरान शिक्षकों को आगामी शैक्षणिक सत्र के लिए पाठ योजना तैयार करने के लिए निर्देश जारी किए गए हैं। योजना के तहत शिक्षक एनसीईआरटी के पाठ्यक्रम व पैटर्न के अनुसार पाठ योजना तैयार करेंगे। जिसमें प्रयोगात्मक व मनोरंजक गतिविधियों के अलावा कला व खेलकूद से संबंधित गतिविधियों को भी शामिल करने के लिए कहा गया है। सीबीएसई का तर्क है कि इससे शिक्षकों के समय का न केवल सदुपयोग होगा बल्कि आगामी सत्र के लिए पाठ्यक्रम की रूपरेखा भी तैयार हो सकेगी।

उल्लेखनीय है कि सीबीएसई द्वारा स्वच्छता अभियान, एक भारत श्रेष्ठ भारत, हेरिटेज क्विज, ईको क्लब, सेवा प्रोजेक्ट, रीडिग चैलेंज इत्यादि गतिविधियां संचालित की जा रही है। बोर्ड की इस योजना के अनुसार अगर शिक्षक इस समय आगामी सत्र का खाका तैयार कर लेंगे तो स्कूल खुलने के तुरंत बाद इसे लागू किया जा सकता है। स्कूल खुलने के बाद पाठ योजना के लिए अतिरिक्त समय नहीं देना पड़ेगा। वहीं दूसरी ओर सीबीएसई ने विद्यार्थियों से अपने घर का काम खुद करने की अपील की है ताकि विद्यार्थी स्वावलंबी बनने के साथ-साथ अनुशासन की भावना को बल मिलेगा।

नालंदा स्कूल के निदेशक विक्रम सिंह लांबा ने बताया कि हाल ही में सीबीएसई ने सर्कुलर जारी कर सभी शिक्षकों को निर्देश दिए हैं कि वे आगामी सत्र के लिए पाठ योजना तैयार करें। साथ ही उसमें प्रयोगात्मक व मनोरंजक गतिविधियों को शामिल करें। इस दिशा में उन्होंने काम शुरू कर दिया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस