जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के यूआइइटी संस्थान में पर्यावरण क्लब की ओर से एक दिवसीय व्याख्यान में बतौर मुख्यातिथि पहुंचे विद्या भारती शिक्षा संस्थान के निदेशक डॉ. रामेंद्र ने कहा कि आज समूचे विश्व में पर्यावरण को लेकर बहुत बड़ा अभियान चलाने की जरूरत है। इसी कड़ी में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसकी शुरुआत भारत में प्लास्टिक फ्री से कर दी है। डॉ. रामेंद्र ने कहा कि जब हम कहीं भी जाते हैं तो हमारे साथ एक प्लास्टिक फ्री बैग होना चाहिए, ताकि हम किसी को बाध्य ना कर पाए। इसके लिए हम सबको संकल्पित होना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि आप सब इंजीनियर हैं और आपको ऐसी तकनीक के इस्तेमाल पर शोध करना चाहिए, जिससे हम प्लास्टिक फ्री करने की मुहिम में अपना योगदान दे सके। अगर हम बांस की बोतल पर और तकनीकी से कार्य करें तो वनवासी समाज को भी अधिक से अधिक व्यवसाय बढ़ाने में सहयोग मिलेगा।

विशिष्ट अतिथि कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक डॉ. हुकम सिंह ने कहा कि पर्यावरण को शुद्ध रखने के लिए पेड़ों का होना अनिवार्य है। हमारा मौलिक कर्तव्य बनता है कि हम पर्यावरण को साफ सुथरा रखें। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए संस्थान के निदेशक प्रो. सीसी त्रिपाठी ने बताया कि जिस प्रकार से हम अपने शरीर को स्वच्छ रखते हैं इसी प्रकार हमें अपने पर्यावरण को भी साफ रखना चाहिए। पर्यावरण को शुद्ध रखना हमारी सामाजिक जिम्मेवारी है। युवा जिस भी कड़ी में चलते हैं समाज उसका अनुसरण करता है, इसलिए विद्यार्थियों को पर्यावरण के प्रति सचेत होना चाहिए।

पर्यावरण क्लब यूआइइटी की नोडल ऑफिसर डॉ. अमिता मित्तल ने बताया कि संस्थान में चार प्रकार की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया। जिसमें एस्से राइटिग प्रतियोगिता में रूसल प्रथम, नीलू द्वितीय और रूबी व किरण तीसरे स्थान पर रही। स्लोगन प्रतियोगिता में राहुल इलेक्ट्रॉनिक्स प्रथम, सारा कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिग दूसरे, व रुचिका बायोटेक तीसरे स्थान पर रहे। पोस्टर मेकिग में चेतन त्यागी बायोटेक प्रथम, आरती द्वितीय, अंकित राणा व इशा कौशिक तीसरे स्थान पर रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप