जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र :

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के पंचवर्षीय विधि संस्थान में मंगलवार को दहेज प्रथा के विरुद्ध आवाज नामक कार्यक्रम किया गया। यह कार्यक्रम बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान को बढ़ावा देने के संदर्भ के दूसरे चरण में संपन्न किया गया। इसके प्रथम चरण में पहले नवंबर में लड़कियों के लिए सेल्फ-डिफेंस ट्रेनिग कैंप का आयोजन किया गया था। इस कार्यक्रम में संस्थान के निदेशक प्रो. राजपाल शर्मा मुख्य अतिथि रहे।

उन्होंने कहा कि कानून ने संशोधन करके दहेज के कारण होने वाली आत्महत्याओं तथा पति व उसके रिश्तेदारों के क्रूर व्यवहार को भारतीय दंड संहिता के दंडनीय अपराधों की श्रृंखला में सम्मिलित किया है। यह कार्य कानून से नहीं सामाजिक वातावरण बनाने से ही हो सकता है। यह कार्यक्रम सामाजिक अंतरात्मा को झकझोर कर समाज को जागृत करने की ओर एक महत्वपूर्ण कदम है। इस अवसर पर श्रद्धा कौल, आयुषी जिदल, अक्षय यादव, दीपक, नेहा, शुभि, नीतिका, नीलम, कशिक बूरा, अन्नय, कशिश, मोनिका, संगीता, नायशा, परीक्षित सिगला, तांशु मौजूद रहे। मंच का संचालन अखिल चौहान ने किया।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस