जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव के शिल्प और सरस मेले में शनिवार को पर्यटकों की भीड़ उमड़ी। ब्रह्मासरोवर के घाटों पर सुबह ही पर्यटकों की आवक तेज हो गई थी, ऐसे में दोपहर होते-होते मेले में पर्यटकों का जमावड़ा लग गया। मेले में पहुंचे पर्यटकों का उत्तराखंड के कलाकारों ने छपेली और पंजाब के जिदवा पर प्रस्तुति देकर समा बांध दिया। दिन भर पर्यटकों की मंच पर भीड़ लगी रही। जब तक उत्तराखंड लोक नृत्य पर कलाकार नृत्य करते रहे, तब तक पर्यटकों की भीड़ भी मंच के आस-पास डटी रही। पर्यटकों ने भी कलाकारों के साथ जमकर नृत्य किया। दिन भर खिली धूप में पर्यटकों ने शिल्प और सरस मेले में खूब खरीदारी की और स्वादिष्ट व्यंजनों का स्वाद भी चखा।

अंतरराष्ट्रीय गीता जयंती महोत्सव 2019 के शिल्प मेले में शनिवार को उत्तर क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र पटियाला की तरफ से पर्यटकों के मनोरंजन के लिए विशेष रूप से आमंत्रित उत्तराखंड के लोक कलाकारों ने खूब रंगा जमाया। इन कलाकारों ने उत्तराखंड के लोक नृत्य छपेली की प्रस्तुति दी। दर्शकों ने भी तालियां बजाकर इन लोक कलाकारों की खूब हौसला अफजाई की। उत्तराखंड के लोक नृत्य के बाद राजस्थान के कलाकारों ने अपनी प्रस्तुति दी। इन कलाकारों ने नृत्य के माध्यम से राजस्थान के लोक नृत्य को लोक गीत के माध्यम पर्यटकों के सामने रखा और पर्यटकों ने तालियां बजाकर इस लोक नृत्य का अभिवादन किया। क्राफ्ट मेले के इस सांस्कृतिक कार्यक्रम में लोक कलाकारों की प्रस्तुति ने सबको भाव-विभोर कर दिया। इस कार्यक्रम को एक सूत्र में पिरोने का काम उत्तर क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र पटियाला से आए मंच संचालक चन्नी शर्मा ने किया। सूचना, जन संपर्क एवं भाषा विभाग के संयुक्त निदेशक एवं सीईओ केडीबी गगनदीप सिंह ने कहा कि एनजेडसीसी की तरफ से छह से ज्यादा राज्यों के करीब 100 कलाकार ब्रह्मासरोवर के घाटों पर लोगों का मनोरंजन कर रहे हैं। इतना ही नहीं यहां आने वाले पर्यटकों को विभिन्न प्रदेशों की लोक संस्कृति और लोक कलाओं से रूबरू होने का अवसर भी मिल रहा है। उमड़ी भीड़ जमकर हुई खरीदारी

महोत्सव में शनिवार को भीड़ उमड़ी। इस भीड़ में शिल्प और सरस मेले से जमकर खरीदारी की। शिल्पकारों को भी कद्रदान मिलने से उनके चेहरे खिले रहे। इतना ही नहीं मेले में पहुंचे पर्यटकों में अलग-अलग राज्यों से कारीगरों की ओर से तैयार किए व्यंजनों का भी स्वाद चखा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस