फोटो : 12 व 18 - कुवि के शारीरिक शिक्षा विभाग की ओर से खेल विश्वविद्यालयों के उभरते महत्व पर राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. सोमनाथ सचदेवा ने कहा कि विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास में खेलों का विशेष महत्व है। इनके महत्व को देखते हुए स्कूली स्तर पर इस ओर ध्यान दिया जाना जरूरी है।

उन्होंने ये बात बुधवार को कुवि के शारीरिक शिक्षा विभाग की ओर से शारीरिक शिक्षा और खेलों को मजबूत करने के लिए खेल विश्वविद्यालयों के उभरते महत्व पर राष्ट्रीय वेबिनार में संबोधित करते हुए कही। वेबिनार में देश के प्रतिष्ठित स्पो‌र्ट्स तथा शारीरिक शिक्षा विश्वविद्यालयों के तीन कुलपतियों ने अपने व्याख्यान दिए। कुलपति प्रो. सोमनाथ सचदेवा ने ओलिपिक में पदक हासिल करने के लिए भारतीय खिलाड़ियों को शुभकामनाएं दी।

उन्होंने कहा कि हरियाणा खिलाड़ियों की जन्मभूमि है और कुवि के लिए यह गर्व का विषय है कि इस विवि के खिलाड़ियों को पद्मश्री, अर्जुन अवार्ड, ध्यानचंद अवार्ड से विभूषित किया गया है। कुवि खेलों के क्षेत्र में सदैव अग्रणी रहा है। पंजाब स्पो‌र्ट्स विश्वविद्यालय के कुलपति डा. जेएस चीमा ने कहा कि देश में खेल संस्कृति को विकसित करना चाहिए।

स्वर्णिम गुजरात स्पो‌र्ट्स विवि गांधी नगर के कुलपति डा. अर्जुन सिंह राणा ने अपनी भविष्य की योजनाओं तथा प्रकार खेलों के स्तर को बढ़ावा देने के प्रयास पर विचार व्यक्त किए। इस वेबिनार में स्पो‌र्ट्स विवि चेन्नई की कुलपति डा. शैला स्टीफन, बीएचयू वाराणसी के प्रो. अभिमन्यु सिंह, पंजाबी विवि पटियाला से प्रो. परमवीर सिंह, सऊदी अरेबिया से डा. कोकब अजीम, आस्ट्रेलिया से बलविन्द्र, एलपीयू जालंधर से प्रो. नीलम, इंदौर से डा. एमके यादव, राजस्थान विवि से डा. प्रतिभा, श्रीनगर विवि से प्रो. सुरजीत सिंह ने भी अपने सुझाव दिए। कार्यक्रम के अंत में प्रो. उषा रानी ने सभी का आभार जताया। उन्होंने बताया कि वेबिनार में गूगल मीट के माध्यम से 249 प्रतिभागी व लाइव स्ट्रीमिग पर 769 प्रतिभागियों ने भाग लिया।

Edited By: Jagran