जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : सेक्टर-4 के पार्क में पेड़ काटने का मामला सामने आने के बाद नगर परिषद एक्शन में आ गई है। पेड़ काटने के मामले में जांच बैठाई गई है। कार्यकारी अधिकारी ने एक्सईएन और ग्रीन अर्थ संगठन के सदस्य को भी जांच टीम में शामिल किया है। नगर परिषद के सख्त होने पर पेड़ काटने वालों की परेशानी बढ़ गई है।

दैनिक जागरण ने आठ मार्च को हरे-भरे पेड़ों पर चलाकर कुल्हाड़ा, सेक्टर चार के पार्क को उजाड़ा, हेडिग के साथ समाचार प्रमुखता के साथ प्रकाशित कर मामले को उठाया था। सेक्टरवासी आज भी अपनी मांग पर डटे हैं। सेक्टरवासियों ने इसकी शिकायत सीएम विडो में की है। सेक्टरवासियों ने हरे-भरे पार्क को उजाड़ने के आरोपितों पर मुकदमा दर्ज करने की मांग की है।

ग्रीन अर्थ पर्यावरण बचाने को आया था आगे

दरअसल ग्रीन अर्थ संगठन के सदस्य डा. नरेश भारद्वाज को सात मार्च को सूचना मिली थी कि सेक्टर-4 के पार्क में पेड़ों पर कुल्हाड़ा चलाया जा रहा है। उनके पहुंचने तक 10 से ज्यादा हरे-भरे पेड़ों को काटा जा चुका था। उन्होंने मौके पर जाकर नप के अधिकारियों को सूचित किया और काम को रुकवाया। नप अधिकारियों ने पेड़ काटने में अनभिज्ञता जताई थी। ग्रीन अर्थ संगठन से डा. नरेश भारद्वाज ने डीसी को पत्र लिखकर जांच कराने और संलिप्त अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने की मांग की थी। फोटो संख्या : 32

जांच करने नहीं आए

ग्रीन अर्थ संगठन के सदस्य एवं पर्यावरणविद् डा. नरेश भारद्वाज ने बताया कि नप कार्यकारी अधिकारी ने इस मामले में जांच बैठाई है। इसके साथ शिकायतकर्ता को भी जांच में शामिल होने के आदेश दिए हैं। उनको आदेशों की प्रति प्राप्त हुई है। एक्सईएन से जांच के लिए कोई फोन नहीं आया है। इस मामले में नप को सख्ती से कार्रवाई करनी चाहिए। नप का सकारात्मक प्रयास हुआ है। अगर नप ने आगामी कार्रवाई नहीं की तो वे इस मामले को एनजीटी में लेकर जाएंगे और आरोपितों के खिलाफ उचित कार्रवाई करने के लिए याचिका लगाएंगे।

--------------

मैंने अपने अधिकारियों से बात की तो पता चला कि नप की ओर से पेड़ काटने के लिए किसी को आदेश नहीं दिए गए थे। ऐसे में इस मामले पर एक्सईएन को जांच करने के लिए लिखा गया है। जांच के साथ-साथ आरोपितों के खिलाफ उचित कार्रवाई भी की जाएगी।

- रविंद्र कुहाड़, कार्यकारी अधिकारी, नगर परिषद।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप