जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र: जयराम विद्यापीठ में ट्रस्टियों की एक अहम बैठक में भारत साधु समाज के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं देशभर में फैली जयराम संस्थाओं के अध्यक्ष ब्रह्मास्वरुप ब्रह्माचारी ने कहाकि भगवान श्री राम मंदिर से देश के करोड़ों लोगों की आस्था से जुड़ी हुई है। पूरे देश के लोगों तथा संत समाज को इंतजार है कि अयोध्या में भगवान श्री राम के भव्य मंदिर का निर्माण शीघ्र होना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस मामले में निर्णय न्यायालय की ओर से द्वारा शीघ्र दिया जाना है। सभी को इस संबंध में आपसी प्रेम और सौहार्द बनाये रखना चाहिए। अयोध्या के मामले में सभी पक्षों को धैर्य रखते हुए आने वाले न्यायालय के फैसले का स्वागत करना चाहिए। ब्रह्मास्वरुप ने कहा कि श्रीराम जन्मभूमि पर अब भव्य मंदिर निर्माण शीघ्र होना चाहिए। भगवान श्री राम ने सृष्टि को मर्यादा का संदेश दिया था और हमें भी उसी मर्यादा का पालन करते हुए एकता और भाईचारे को प्रोत्साहित करना चाहिए। उन्होंने कहा कि अयोध्या करोड़ों भारतीयों की आस्था का केंद्र बिदु है। अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण होता है तो इससे करोड़ों भारतीयों की इच्छा पूरी होगी। पूरा संत समाज भगवान श्री राम मंदिर के निर्माण का समर्थन कर रहा है। ब्रह्मचारी ने कहा कि जिस प्रकार कुरुक्षेत्र की धरती पर भगवान श्री कृष्ण ने गीता के माध्यम से पूरी सृष्टि को कर्म का संदेश दिया था। उसी प्रकार भगवान श्री राम की जन्मभूमि अयोध्या का भी पूरे भारत में ही नहीं, बल्कि विश्व भर के लोगों में आस्था है। इस मौके पर केके गर्ग, श्रवण गुप्ता, राजेंद्र सिघल, क के कौशिक, कुलवंत सैनी, टेक सिंह लौहार माजरा, ईश्वर गुप्ता, सुरेंद्र गुप्ता, एसएन गुप्ता, राजेश सिगला, अशोक गर्ग, संजीव गर्ग, मुनीश मित्तल, रणबीर भारद्वाज, सुनील गौरी, सुभाष नरूला, दर्शन खन्ना, सतबीर कौशिक व रोहित कौशिक मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप