फोटो संख्या : 07 - अभाविप ने फीस वापस लेने को लेकर सोमवार तक का दे रखा है अल्टीमेटम जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय में छात्रावास फीस बढ़ोतरी के विरोध में छात्र संगठनों के प्रतिनिधियों ने वीरवार को कुलपति कार्यालय के सामने प्रदर्शन किया और ज्ञापन सौंपा। कुलपति कार्यालय के सामने पहुंचे छात्र संगठनों के प्रतिनिधियों ने कहा कि कोविड 19 के लाकडाउन के बाद कुवि ने छात्रावासों की फीस दोगुना कर दिया है। इस फीस वृद्धि से विद्यार्थियों में रोष है। छात्र संगठनों ने बढ़ी हुई फीस को वापस लेने की मांग की है।

गौरतलब है कि कुवि प्रशासन की ओर से 19 माह बाद 22 नवंबर से कुवि में आफलाइन कक्षाएं शुरू की गई हैं। इन कक्षाओं के लिए भी प्रथम सेमेस्टर के विद्यार्थियों को ही बुलाया गया है। आफलाइन कक्षाएं शुरू होने के साथ ही कुवि में छात्रावास भी आवंटित किए जा रहे हैं। जब विद्यार्थी कुवि में छात्रावास लेने पहुंचे तो उन्हें छात्रावासों की बढ़ी हुई फीस की जानकारी मिली। इसके बाद 22 नवंबर को ही अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने फीस बढ़ोतरी के विरोध में कुलसचिव कार्यालय के सामने प्रदर्शन किया। अभाविप ने कुवि प्रशासन को सोमवार तक बढ़ी हुई फीस का फैसला वापस लेने का अल्टीमेटम दिया। ऐसा न करने पर सोमवार से आंदोलन की चेतावनी दी। अभाविप के विभाग संयोजक हिमांशु ठाकुर ने बताया कि छात्रावास फीस 13 हजार रुपये से बढ़ाकर 24 हजार रुपये के करीब कर दी है।

प्रदर्शन कर वीरवार को सौंपा ज्ञापन

छात्र संगठन इनसो, कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय स्टूडेंट्स आर्गेनाइजनेशन, इनसो और नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन आफ इंडिया के प्रतिनिधियों ने वीरवार को ज्ञापन सौंपा। उन्होंने ज्ञापन में दाखिला फीस की रसीद पर ही पुस्तकालय में प्रवेश दिए जाने की भी मांग की है। इस मौके पर एनएसयूआइ नेता भरत बराड़, विकास बलाही, रणदीप जागलान, अजय व दीपेंद्र मौजूद रहे।

विवि प्रशासन का दावा मात्र 960 रुपये बढ़ी फीस

कुवि छात्र कल्याण अधिष्ठाता डा. अनिल वशिष्ठ ने बताया कि छात्रावास फीस में मात्र 960 रुपये की वृद्धि की गई है। पहले यही फीस 800 रुपये प्रति माह ली जाती थी। अब इसे एकमुश्त कर दिया गया है। छात्रावास फीस में एकमुश्त 10 हजार रुपये की बढ़ोतरी होने पर ही छात्र संगठन विरोध कर रहे हैं। उन्होंने विद्यार्थियों को समझा दिया है। इसके बाद भी अगर कोई अन्य मांग है तो उसको लेकर कुवि प्रशासन की ओर बैठक की जाएगी। बैठक के बाद विद्यार्थियों की समस्याओं का समाधान कर दिया जाएगा।

Edited By: Jagran