संवाद सहयोगी, लाडवा : गांव बदरपुर में विवाहिता के पंखे से लटक कर अपनी जीवन लीला समाप्त करने के मामले में स्वजन एसपी राजेश दुग्गल से मिले। उनका आरोप है कि इस मामले में अब तक आरोपित पति को गिरफ्तार किया है, जबकि अन्य आरोपित पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। स्वजनों ने गुहार लगाई कि मामले में अन्य आरोपितों की जल्द गिरफ्तारी की जाए और दहेज में दिया सामान वापस दिलाया जाए। एसपी ने लाडवा थाना पुलिस को फोन कर मामले में कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

करनाल के गांव खेड़ी मान सिंह निवासी रोहताश ने बताया कि उसकी बहन सुनीता की शादी पांच साल पहले गांव बदरपुर निवासी विकास के साथ हुई थी। लगभग ढाई साल से उसकी बहन को ससुराल पक्ष के लोग तंग कर रहे थे। जिसके चलते सुनीता ने 18 सितंबर को अपने कमरे में चुन्नी का फंदा बना कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। सुनीता के भाई प्रवीण ने पुलिस को बयान दिए थे कि उसकी बहन सुनीता के पति विकास का चाल-चलन ठीक नहीं था, वह उसकी बहन सुनीता को पसंद नहीं करता था। उन्होंने आरोप लगाया था कि सुनीता के ससुराल वालों ने मिलकर उसकी हत्या की है। लाडवा थाना पुलिस ने मामले में दहेज हत्या का मामला दर्ज कर आरोपित पति को गिरफ्तार कर लिया था। स्वजनों ने एसपी से गुहार लगाई कि अन्य आरोपितों को तुरंत गिरफ्तार किया जाए। इस मौके पर पाला राम, सुरेश कुमार, इंद्र, बहेती देवी, धनपती, सुनहेरी देवी मौजूद रहे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस