जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : कुवि के जनसंचार एवं मीडिया प्रौद्योगिकी संस्थान में दो दिवसीय साउंड प्रोडक्शन कार्यशाला का शुभारंभ हुआ। प्रथम दिन चितकारा विश्वविद्यालय के सहायक प्रोफेसर पंकज गर्ग ने विद्यार्थियों को रेडियो जोकिग एवं साउंड प्रोडक्शन विषय की बारीकियों से अवगत करवाया। उन्होंने बताया कि किसी भी रेडियो कार्यक्रम निर्माण के तीन चरण होते हैं, प्री प्रोडक्शन, प्रोडक्शन एवं पोस्ट प्रोडक्शन।

मंगलवार को दो सत्र आयोजित किए गए। पहले सत्र में विद्यार्थियों को रेडियो चैनल के काम करने का तरीका, पटकथा लेखन, संगीत का चयन इत्यादि विषयों के बारे में अवगत कराया गया। विद्यार्थियों से विभिन्न विषयों जैसे पानी बचाओ, नेत्र दान, विश्व हृदय दिवस, पक्षी सुरक्षा, सड़क सुरक्षा, स्वच्छ भारत अभियान, विश्व हैंड वॉश दिवस पर विज्ञापन के लिए पटकथा लेखन का कार्य कराया गया।

द्वितीय सत्र में विद्यार्थियों के द्वारा लिखे गए कार्यक्रम स्टूडियो में रिकार्ड किए गए। संस्थान की निदेशिका प्रो. बिदु शर्मा ने कहा कि साउंड प्रोडक्शन के क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं। इस अवसर पर संस्थान में सहायक प्रोफेसर डॉ. रोशन मस्ताना, अपर्णा वत्स, राहुल अरोड़ा, नीतिन, डॉ. अजय कुमार उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप