जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की तरफ से अदालत परिसर में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में 600 मामलों को निपटाया गया। राष्ट्रीय लोक अदालत का शुभारंभ जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष व जिला एवं सत्र न्यायाधीश अजय कुमार शारदा व प्राधिकरण की सचिव डॉ. कविता कांबोज ने किया।

एमएसीटी के 91 मामले राष्ट्रीय लोक अदालत में रखे गए, जिसमें से 26 का निपटारा आपसी सहमति से हुआ। इनमें एक करोड़ 22 लाख 24 हजार रुपये की समझौता राशि दी गई। बैंक रिकवरी के 196 केस लोक अदालत में रखे गए, जिसमें से 88 मामलों का निपटारा कर 16 लाख 29 हजार 933 रुपये की रिकवरी हुई है।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव एवं सीजेएम डॉ. कविता कांबोज ने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत में अधिक से अधिक मामलों का निपटारा करने के उद्देश्य से एडीजे मनीष दुआ, न्यायाधीश अमित कुमार ग्रोवर, न्यायाधीश पिहोवा संदीप यादव और न्यायाधीश शाहबाद मोनिका के नेतृत्व में बेंच का गठन किया गया था। इन बेंचों के पास क्रिमिनल काम्पाउंडऐबल ऑफेंस, एनआइ एक्ट धारा 138, बैंक रिकवरी केस व एमएसीटी केस तथा विवाह संबधी मामलों का निपटारा किया गया। इस लोक अदालत में 600 मामलों का समाधान किया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस