जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : इस सृष्टि में कोई भी मंगल एवं महान कार्य वीर हनुमान के बिना संपन्न नहीं किया जा सकता है। महाभारत के युद्ध में भगवान श्री कृष्ण और अर्जुन के रथ का ध्वज पर भी भगवान श्री राम भक्त वीर हनुमान के हाथ में ही छपा था। जयराम संस्थाओं के परमाध्यक्ष ब्रह्मास्वरुप ब्रह्माचारी ने बताया कि 30 सालों से हर वर्ष गीता जयंती महोत्सव के कार्यक्रमों से पहले विद्यापीठ में भूमि पूजन के उपरांत विधिवत मंत्रोच्चारण के साथ श्री हनुमत ध्वजारोहण किया जाता है। गीता जयंती महोत्सव 2019 के लिए भी शनिवार को ब्रह्मासरोवर के तट पर जयराम विद्यापीठ परिसर में संत महापुरुषों के सान्निध्य में विद्वान-ब्राह्माणों तथा ब्रह्माचारियों द्वारा भगवान श्री रामभक्त वीर हनुमान का गुणगान करते हुए श्री हनुमत ध्वजारोहण किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस