संवाद सहयोगी, पिपली :

हरियाणा राइस मिलर एसोसिएशन के प्रधान हंसराज सिगला ने कांग्रेसी नेता अशोक अरोड़ा के बयान की निदा की है, जिसमें उन्होंने मंडियों में हुई धान की खरीद की फिजिकल वेरिफिकेशन की मांग की थी। राइस मिलर व व्यापारी हर जांच के लिए तैयार हैं, बशर्ते इसके लिए वे अपनी संपत्ति की जांच कराएं। उन्होंने निमंत्रण दिया कि वे स्वयं मिलों की जांच करें। सच्चाई उनके सामने आ जाएगी।

राइस मिलर गुलजारी लाल नंदा मार्ग स्थित एक निजी होटल में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राइस मिलर सैकड़ों लोगों को रोजगार उपलब्ध कराता है। उनका बयान किसान व आढती के बीच भ्रांति फैलाने का प्रयास है। प्रदेश का व्यापारी व राइस मिलर उनके ब्यान की निदा करता है। हरियाणा राइस मिलर एसोसिएशन के चेयरमैन च्वैल सिगला ने कहा कि यह बयान व्यापारियों के हितों के खिलाफ है। पहले भी धान की खरीद की फिजिकल वेरिफिकेशन की मांग की थी। इसकी सरकार ने जांच की थी, लेकिन कोई कमी सामने नहीं आई थी। अब फिर से उन्होंने ऐसा बयान देकर व्यापारी वर्ग के हितों के साथ कुठाराघात किया है। बैठक में सभी राइस मिलर ने सर्वसम्मति से निर्णय लिया कि वे एकजुट होकर व्यापार विरोधी साजिश का मुकाबला करेंगे। इस मौके पर उप प्रधान विनोद गोयल, कुरुक्षेत्र अनाजमंडी के प्रधान दयाल चंद, शशि मित्तल, नरेंद्र मित्तल, राकेश अग्रवा, संजीव गर्ग, जितेंद्र अग्रवाल, राजकुमार, जगदीश अग्रवाल, नरेश बंसल तरावड़ी, सरदार गगन सिंह, सौरव गुलियानी, जोगिद्र सिंह मौजूद रहे।

कांग्रेस नेता अशोक अरोड़ा ने कहा कि उन्होंने जांच की बात कही है। राइस मिलरों को इसका स्वागत करना चाहिए। अगर वे सही हैं तो जांच कराएं। उन्होंने कहा कि उनकी संपत्ति की जांच की बात कही जा रही है वे हर जांच के लिए तैयार हैं। राइस मिलर अन्य नेताओं की संपत्ति की भी जांच करा लें।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप