- मुख्य आरोपी के ठिकानों पर पुलिस ने की रेड

जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : युवती का सहारा लेकर युवकों को ठगने और लूटपाट की घटना को अंजाम देने का मुख्यारोपी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ा है। पुलिस ने मुख्यारोपी के ठिकानों पर भी रेड की है, मगर उसका कुछ पता नहीं चल पाया है। वहीं पुलिस रिमांड के दौरान आरोपियों ने केवल इसी मामले में शामिल होने की बात कही है।

गौरतलब है कि पुलिस की अपराध शाखा एक न हनी ट्रेप के मामले में गिरोह के पांच सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। अपराध शाखा एक को गीता कॉलोनी निवासी अमन जोशी 11 फरवरी को शिकायत की थी कि उसकी दुकान गीता कॉलोनी में ही है। दीदार नगर की लता उसकी दुकान पर आई, जिसने उसकी मुलाकात सिक्किम निवासी माया से कराई। माया ने उसी दिन पिहोवा अपने आफिस में किसी काम से जाने की बात कहते हुए अमन को साथ चलने के लिए कहा। अमन ने माया को कार में लिफ्ट दे दी, लेकिन कुछ दूर चलते ही माया ने उसे कार नरकातारी रोड पर लेने के लिए कहा और दूसरी तरफ किसी को फोन करके नरकातारी मोड़ पर मिलने को कहा। इसके बाद नरकातारी रोड पर कार रोकने के लिए कहा, जैसे ही उसने कार रोकी वहां पहले से जिला कैथल के गांव ट्योंठा निवासी नवीन, कैथल के गांव मुंदड़ी निवासी बलराज व कैथल के गांव कमालपुर निवासी वेद प्रकाश खड़े थे। उन्होंने उस लड़की को कार में से उतार दिया और कार की चाबी निकाल ली। अमन ने बताया कि तीनों युवकों ने उससे दो सोने की अंगूठी, एक गले की चेन, सोने लॉकेट, एक हाथ में पहनने की चेन, मोबाइल फोन छीन लिया। तीनों कार इधर से उधर घुमाते रहे और 10 लाख रुपये देने के लिए धमकाया। उसने अपनी गाडी में रखा बिना नाम का 12 लाख रुपये का चेक उन्हें दे दिया। उन्होंने उसके एटीएम लेकर उनके कोड पूछ लिए और ब्रह्मसरोवर के पास उतारकर चले गए। उसने घर पहुंचकर घर वालों को सारी बात बताई तथा पुलिस को सूचना दी।पुलिस की अपराध शाखा एक प्रभारी सतीश कुमार ने बताया कि पुलिस की टीमों ने मुख्यारोपी के ठिकानों पर रेड की है। अभी तक आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। पुलिस रिमांड के दौरान आरोपियों ने बताया है कि वे मुख्यारोपी पवन के साथ केवल इसी मामले में शामिल थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस