जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : विधानसभा चुनाव संपन्न होने के साथ ही विजेता रहे विधायकों ने भी अपनी-अपनी प्राथमिकताओं को तय करना शुरू कर दिया है। इनमें से थानेसर के विधायक सुभाष सुधा ही ऐसे हैं जिन्हें लगातार दूसरी बार विधानसभा में पहुंचने का मौका मिला है। लाडवा, पिहोवा और शाहाबाद विधानसभा से इस बार नये चेहरे विधानसभा में पहुंच रहे हैं। ऐसे में थानेसर विधायक ने सबसे पहले अधूरे पड़े विकास कार्याें को तेजी से पूरा करने का लक्ष्य तय किया है तो अन्य विजेता विधायकों ने अपनी पार्टी के घोषणा पत्र पर काम करने की बात कही है।

थानेसर से भाजपा के विधायक सुभाष सुधा ने कहा कि सबसे पहले अधूरे कार्यों को पूरा करना उनकी प्राथमिकता रहेगा। कुरुक्षेत्र के लाखों नागरिकों को पांच फाटकों को राहत देने के लिए एलिवेटेड ट्रैक का निर्माण कार्य चला हुआ है। अब सरकार बनते ही इस काम में तेजी लाई जाएगी। इसके साथ ही गुलजारी लाल नंदा मार्ग को छह लेन बनाने के काम को भी तेजी से शुरू करवाया जाएगा। इन दोनों बड़े विकास कार्यों के पूरा होने के बाद कुरुक्षेत्र की तस्वीर बदल जाएगी।

पिहोवा से भाजपा के नवनिर्वाचित विधायक अंतरराष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी संदीप सिंह ने कहा कि पिहोवा क्षेत्र की युवा पीढ़ी को नई दिशा देने के लिए प्रयास किए जाएंगे। इसके लिए युवा पीढ़ी को खेलों की ओर मोड़ा जाएगा। इसके साथ ही पिहोवा के विश्वप्रसिद्ध सरस्वती तीर्थ के विकास की भी ठोस योजनाएं तैयार कर उन्हें लागू किया जाएगा।

लाडवा से कांग्रेस के नवनिर्वाचित विधायक मेवा सिंह पहली बार विधायक बने हैं। उन्होंने कहा कि लाडवा में विकास को लेकर योजनाएं तैयार कर उन पर काम किया जाएगा। इसके साथ ही कांग्रेस के घोषणापत्र में शामिल मांगों को पूरा करने के लिए प्रयास शुरू किए जाएंगे।

शाहाबाद से जजपा के नवनिर्वाचित विधायक रामकरण काला भी पहली बार विधायक बने हैं। उनका कहना है कि पार्टी के घोषणापत्र में शामिल मांगों पर प्रमुखता से काम शुरू किया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस