जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र

उद्यन केयर संस्था में उद्यन शालिनी फैलोशिप कार्यक्रम में आठवें व 12वें बैच की शालिनियों को स्पोंसर कर रही आई पार्टनर की सदस्य निशा ने शालिनियों का सत्र लिया। आई पार्टनर सदस्य निशाल, उद्यन केयर संस्था की संयोजिका प्रोफेसर सुषमा शर्मा से उद्यन शालिनी फैलोशिप कार्यक्रम में चल रहे कार्यक्रम, वर्कशॉप पर चर्चा की।

प्रोफेसर सुषमा शर्मा ने बताया कि उद्यन शालिनी फैलोशिप कार्यक्रम कुरुक्षेत्र में 2005 में शुरू हुआ था। प्रथम बैच की दो शालिनियां सफलतापूर्वक आज एक वर्तमान में गलगोटियास यूनिवर्सिटी में सहायक प्रोफेसर के पद पर कार्यरत हैं और दूसरी शालिनी अमेरिका में कार्यरत है। उन्होंने शालिनियों से उनके सामने आ रही दिक्कतों पर भी चर्चा की। निशा ने बताया कि देश भर में उद्यन शालिनी फैलोशिप कार्यक्रम सफलतापूर्वक चल रहा है और उन्नति कर रहा है। निशा अपने कुछ उद्देश्य लेकर शालिनियों का निरीक्षण करने आई थी जिसमें सभी शालिनियां सफलतापूर्वक उत्तीर्ण हुई। निशा 12वें बैच की निहारिका से बहुत प्रभावित हुई क्योंकि वह नृत्य व थियेटर में निपुण थी। उन्हें जब पता लगा कि शालिनी निहारिका अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव में वॉटर शो में आवाज दी है तो उन्होंने निहारिका की पीठ थपथपाई। निशा ने उद्यन केयर होम का भी भ्रमण किया। इस कार्यक्रम में उद्यन शालिनी फैलोशिप कार्यक्रम की ट्रेनी कॉर्डिनेटर प्रीती यादव, आईटी ट्रेनर गीतांजली व उद्यन होम की कॉर्डिनेटर महिमा चौधरी मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस