जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र: इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स इंडिया एवं टेरी संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में राष्ट्रीय टेलीकम्यूनिकेशन एवं इलेक्ट्रॉनिक्स विषय पर राष्ट्रीय अधिवेशन आयोजित किया गया। इसमें तकनीकी शिक्षा विभाग के पूर्व निदेशक एवं टेरी के मुख्य सलाहकार डॉ.एमपी गुप्ता ने मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की और आइइआइ के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ.टीएम गुनाराजा ने सम्मेलन की अध्यक्षता की, साथ ही राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए चयनित इंजी. नरेंद्र सिंह की भी उपस्थिति रही । सम्मेलन में स्वागत भाषण इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स इंडिया के हरियाणा स्टेट सेंटर के अध्यक्ष अजय महाजन ने पढ़ा, जिनके बाद सम्मेलन की संरक्षक डॉ.वृंदा ने सम्मेलन का एजेंडा सबके सम्मुख पढ़ा।

की-नोट वक्तव्य पानीपत इंस्टीट्यूट के निदेशक डॉ. शक्ति कुमार ने पढ़ा, जिसमे उन्होंने इंडस्ट्रियल रेवोलुशन 4.0 की प्रस्तावना रखी। उनके बाद एसएस मुथा ने इलेक्ट्रॉनिक्स एवं टेलीकम्युनिकेशन डेवलपमेंट बोर्ड की प्रस्तावना सबके सम्मुख प्रस्तुत की। डॉ.एमपी गुप्ता ने सम्मेलन के विषय की सार्थकता पर प्रकाश डाला।

इंजीनियर पीके सांसी (कंसलटेंट एआइसीटीई), डॉ.शक्ति कुमार को एमिनेंट इंजीनियर अवार्ड से नवाजा गया, साथ ही नेशनल बोर्ड ऑफ एक्रिडिटेशन के अध्यक्ष डॉ. के के अग्रवाल को उनकी अनुपस्थिति में एमिनेंट इंजीनियर्स अवार्ड पद से नवाजा गया। डॉ.टीएस कमल को प्रो.एसके मित्रा पुरस्कार से नवाजा गया। यंग इंजीनियर के रूप में डॉ.रघुवेंद्र कुमार चौधरी, डॉ.मनोज के पटेल को पुरस्कृत किया गया। द्वितीय सत्र में प्रो.पीके सांसी ने व्याख्यान दिया, जिनके बाद युवाओं ने दो तकनीकी चरणों मे अपने अपने शोध पत्र पढ़े। टेरी के निदेशक डॉ. सागर गुलाटी ने आभार प्रकट किया एवं तकनीकी चरणों के समापन की घोषणा की। इस मौके पर नेहा गुलाटी, गुरचरण, राजेश, संदीप मालिक, हिमांशी, घनश्याम का योगदान रहा। मंच का सफल संचालन पारुल ने किया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप