जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र: टिप्पर चालकों की हर गतिविधि पर अब सीधे डीसी धीरेंद्र खड़गटा की नजर होगी। हर टिप्पर पर जीपीएस लगाया जाएगा। इसके साथ यार्ड रूम में सीसीटीवी कैमरों की नजर रहेगी। इसका कंट्रोल रूम डीसी आवास मे होगा। सुबह ठीक सात बजकर 30 मिनट पर कर्मचारी अपने कार्य पर निकलेंगे। काम के समय में धींगामुश्ती करने वाले टिप्पर चालकों पर अंकुश लगाने के लिए प्रशासन ने यह फैसला लिया है।

लघु सचिवालय के सभागार में ठोस कचरा प्रबंधन कमेटी की एक बैठक में डीसी धीरेंद्र खड़गटा ने यह आदेश दिए। उन्होंने कहा कि एनजीटी के आदेशों का पालन न करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। थानेसर नप के फीडबैक पर उपायुक्त ने कहा कि फायर ब्रिगेड कार्यालय के पास जहां टिप्पर खड़े किए जाते हैं, वहां पर भी सीसीटीवी कैमरा लगाया जाए और सभी टिप्परों में जीपीएस सिस्टम भी स्थापित किया जाए। इतना ही नहीं सभी नगर पालिकाओं के सचिव और नगर परिषद के अधिकारी खराब टिप्परों को तुरंत प्रभाव से ठीक करवाएंगे और सभी टिप्पर सुबह साढे़ सात बजे अपने-अपने कार्यक्षेत्र में निकलेंगे। इस मौके पर अतिरिक्त उपायुक्त वीना हुड्डा, एएसपी उपासना, एसडीएम अश्विनी मलिक, नगराधीश सतबीर कुंडू, एसडीएम शाहबाद डॉ. किरण सिंह, एसडीएम पिहोवा डॉ. सौनू राम, डीएसपी ममता सौदा मौजूद रहे। यह मुख्य मुद्दे उठे बैठक में

बैठक में पिपली डंपिग स्थल के चारों तरफ बैरिकेडिग करने के साथ-साथ मथाना डंपिग स्थल को खाली करवाने, घग्गर, शाहाबाद मारकंडा में सफाई व्यवस्था को दुरुस्त करवाने के निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने कहा कि नगराधीश सुनिश्चित करवाएंगे कि आगामी सात दिनों में सभी सफाई कर्मचारियों को स्वच्छ भारत मिशन के तहत प्रशिक्षण करवाया जाए ताकि घर-घर से सूखा व गीला कचरा एकत्रित करने और उनका निस्तारण करने का कार्य ठीक ढंग से हो सके। रात को होगी सफाई

डीसी धीरेंद्र खड़गटा ने कहा कि नगर परिषद और नगर पालिकाओं में रात्रि के समय सफाई का कार्य शुरू करवाया जाए। इस कार्य के लिए प्रशासन के पास एक नाइट स्वीपिग मशीन पहुंच चुकी है, जिसका उद्घाटन शीघ्र किया जाएगा। इस नाइट स्वीपिग के लिए बकायदा शेड्यूल तैयार किया जाएगा और कॉमर्शियल क्षेत्रों में सफाई के लिए 10 टीमों का गठन किया जाएगा। बाकी नगर पालिकाओं में एक या दो टीमों का गठन किया जाएगा। पोलिथिन मिलने पर चालान करने की शक्ति जेई स्तर के अधिकारी को सौंपी

डीसी धीरेंद्र खड़गटा ने नगर पालिकाओं में अतिक्रमण और प्लास्टिक, पोलिथिन का प्रयोग करने वालों का चालान करने की शक्तियां जेई स्तर के अधिकारियों को सौंप दी हैं। उन्होंने कहा कि नगर परिषद और नगर पालिकाओं की सीमाओं में जो भी व्यक्ति अतिक्रमण करे और पोलिथिन का प्रयोग करे उसका चालान किया जाए। इतना ही नहीं पुलिस प्रशासन भी अतिक्रमण करने वालों का चालान करेगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस