फोटो संख्या : 29 से 32

- तेज हवा के साथ बुधवार की देर रात हुई छींटा-छांटी

विनोद चौधरी, कुरुक्षेत्र : गत तीन दिनों से गर्मी से झुलस रहे लोगों के लिए बृहस्पतिवार राहत लेकर आया। धर्मनगरी का तापमान बुधवार को 43 डिग्री के पार पहुंचने पर रात को हवा के गर्म होकर ऊपर उठने से लो प्रेशर क्रिएट हुआ तो इससे धूल के कणों के साथ पानी की हल्की बूंदें गिरी। लो प्रेशर होने पर तेज हवा चली और तापमान में पांच डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। ऐसे में बृहस्पतिवार का अधिकतम तापमान 38 डिग्री और न्यूनतम 26 डिग्री सेल्सियस रहा। मौसम विशेषज्ञों ने बृहस्पतिवार रात को भी 20 फीसद बूंदाबांदी की उम्मीद जताई है। इसके साथ ही 20 से 31 तक बारिश होने का अनुमान लगाया है।

जागरण ने हरियाली और खुले आसमां के नीचे ऐसे पाया अंतर कुवि की हरियाली में तापमान तीन डिग्री कम

मई माह के अंत में बढ़ते तापमान में झुलस रहे लोगों को पेड़ों की छांव राहत दे रही है। दैनिक जागरण की लाइव रिपोर्ट में जहां खुले में सड़कों पर थर्मामीटर में पारा 38 डिग्री के पास पहुंचा तो यही हरे-भरे पेड़ों की छांव में 36 डिग्री से भी कम रहा। धर्मनगरी में कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय और राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान परिसर के साथ-साथ सेक्टर आठ में साथ लगे राधा स्वामी सत्संग के पास खड़े आम के बाग में तापमान सामान्य से तीन डिग्री के लगभग कम रहा।

- खुले में 38 तो पेड़ों की छांव में 36 रहा तापमान

दैनिक जागरण ने जब दोपहर बाद 2:45 मिनट पर रेलवे रोड पर श्रीमद्भगवद गीता स्कूल के सामने सड़क पर खड़े होकर तापमान की जांच की तो पारा 38 डिग्री पर पहुंचा। इसके बाद 3:05 मिनट पर ब्रह्मसरोवर के साथ लगती सड़क पर भी तापमान 38 डिग्री रहा। इसके बाद 3:15 मिनट पर कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय में यूनिवर्सिटी हेल्थ सेंटर के सामने पेड़ों की छांव के बाद पारा दो डिग्री से भी ज्यादा लुढ़कर 36 डिग्री के प्वाइंट से हल्का नीचे तक पहुंच गया। कुछ ऐसे ही हालात ठंडी सड़क के भी रहे। कुवि की ठंडी सड़क पर पेड़ों की बीच भी पारा 36 डिग्री से हल्का नीचे रहा। इसके बाद 3:35 पर उमरी रोड पर बने राधा स्वामी सत्संग घर के साथ लगते आम के बाग में पेड़ों की छांव के बीच से चल रही हवाओं से पारा करीब 35 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। हालांकि केडीबी रोड पर रेलवे पुल के पास भारी वाहनों की आवाजाही के चलते गर्म हवा महसूस होने पर पारा 38 डिग्री से भी कुछ ऊपर तक पहुंचा।

----

29 से 31 तक बारिश की संभावना

कृषि विज्ञान केंद्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक डा. प्रद्युम्मन भटनागर ने कहा कि बुधवार को तपत बढ़ने से गर्म हवा ऊपर उठ गई। इस कारण लो प्रेशर एरिया क्रिएट हुआ और पानी के कण वाष्प बन उठे। इसके साथ हवा चली और धूल कणों के साथ निचली सतह पर आई। इससे गर्मी से राहत मिली। तापमान भी 43 से लुढककर 38 डिग्री पर पहुंच गया। 29 से 31 मई तक आसमान में बादल छाने से बूंदांबांदी का अनुमान लगाया जा रहा है। जिस जगह पर पेड़ अधिक हों और हरियाली हो वहां पर तपत अक्सर कम रहती है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस