जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय ने पीजी कक्षाओं की परीक्षा में कुछ बदलाव किया है। अब कैंपस में होने वाली परीक्षाएं ऑफलाइन लेगा। कुवि ने इसका फैसला लेकर पत्र जारी कर दिया है। छात्र संगठन पत्र सामने आते ही विरोध में उतर आए। भगवान परशुराम कालेज की एनएसयूआइ इकाइ ने प्राचार्य के मार्फत ज्ञापन सौंपकर ऑफलाइन की बजाय ऑनलाइन परीक्षा कराने की मांग की है। ऐसा न होने पर सड़कों पर उतरने की चेतावनी दी है।

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के 24 फरवरी को जारी एक पत्र के अनुसार पीजी कक्षाओं की परीक्षा में कुछ बदलाव किए हैं। प्रथम सेमेस्टर की एक अप्रैल को होने वाली परीक्षा को लेकर इसको गंभीर माना गया है। भगवान परशुराम कालेज की एनएसयूआइ के अध्यक्ष जिसमें भारत बराड़ ने कहा कि पीजी कोर्स फ‌र्स्ट सेमेस्टर का यूनिवर्सिटी की तरफ से नोटिस आया है। अब पेपर ऑफलाइन माध्यम से लिए जाएंगे। कुवि का यह फैसला गलत है। जब यूजी कोर्स और पीजी कोर्स थर्ड सेमेस्टर के पेपर ऑनलाइन हो रहे हैं तो पीजी कोर्स फ‌र्स्ट सेमेस्टर के भी ऑनलाइन हो सकते हैं। कुवि को इन परीक्षाओं के लिए भी छात्रों पर फैसला छोड़ना चाहिए।

बीपीआर कालेज के अध्यक्ष मनदीप सिंह ने कहा कि लॉकडाउन में यूनिवर्सिटी और कालेज पूरी तरह से बंद रहे हैं। अब कोरोना के केस फिर से बढ़ने लगे हैं और वैक्सीनेशन की प्रक्रिया भी पूरी नहीं हुई है। ऐसे में ऑफलाइन परीक्षा कराकर विद्यार्थियों के साथ खिलवाड़ की जा रही है। ऑनलाइन परीक्षा आज से शुरू

कुवि की ऑनलाइन परीक्षाएं आज से शुरू हो गई हैं। इसमें कालेज में पढ़ने वाले विद्यार्थी शामिल हैं। ये ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से ली जा रही है। कुवि ने पहले इन परीक्षाओं को भी ऑफलाइन कराने का फैसला लिया था, लेकिन छात्र संगठन इसके विरोध में उतर आए थे। कुवि ने पिछले दिनों ऑफलाइन व ऑनलाइन दोनों तरह परीक्षा कराने का फैसला लिया। अधिकतर विद्यार्थी ऑनलाइन परीक्षा दे रहे हैं। कुछ परीक्षार्थियों को पहले दिन पेपर अपलोड करने में दिक्कत भी आई।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप