जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : खेल एवं युवा मामले मंत्री संदीप सिंह ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा पैरालंपिक व पैरा एथलेटिक्स खिलाड़ियों को भी सामान्य श्रेणी में शामिल करने से उनको खेलों के क्षेत्र में प्रोत्साहन मिलेगा। उनको इसके बाद नौकरियां भी मिलेंगी। उन्होंने इस पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल का आभार जताया है।

उन्होंने ये बात मंगलवार शाम को खेल नीति में बदलाव करने पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कही। उन्होंने कहा कि 24 फरवरी को पैरालंपिक व पैरा एथलेटिक्स खिलाड़ियों ने चंडीगढ़ निवास पर पहुंच कर नई खेल नीति के तहत सामान्य श्रेणी के समान लाभ देने की मांग रखी थी। उन्होंने इस मांग को मुख्यमंत्री मनोहर लाल के समक्ष रखा था। मुख्यमंत्री ने तुरंत इस मांग को स्वीकार कर लिया और खिलाड़ियों की मांग को पूरा कर खिलाड़ियों को प्रोत्साहित किया है।

उन्होंने बताया कि अब पैरालंपिक और पैरा एथलेटिक्स के खिलाड़ियों को भी सामान्य श्रेणी में रखा गया है। ओलंपिक, एशियाई व कॉमनवेल्थ जैसी प्रतियोगिताओं में पदक जीतने पर इन खिलाड़ियों को सामान्य श्रेणी की तर्ज पर प्रथम श्रेणी की नौकरी दी जाएगी। पिछले दिनों संशोधित खेल नीति में उनको द्वितीय श्रेणी की नौकरी देने का प्रावधान रखा गया था। अब सरकार की घोषणा अनुसार खेलों के लिए बनाई गई नीतियां अब पैरालंपिक और पैरा एथलेटिक्स के लिए समान रूप से लागू होंगी और इन श्रेणी के खिलाड़ियों को सामान्य श्रेणी के खिलाड़ियों जैसी सुविधाएं मिलेंगी। प्रदेश सरकार खिलाड़ियों के लिए बेहतर काम कर रही है। इन नीतियों का लाभ लेकर खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रदेश व देश का नाम रोशन करेंगे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021