जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : लघु सचिवालय में सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग की प्रदर्शनी में जिलेवासियों को स्वतंत्रता के पहले आंदोलन में प्रदेश के योगदान और अब तक की प्रगति के अहम झरोखों को देखने का मौका मिला। सैकड़ों लोग प्रदर्शनी का अवलोकन कर गदगद हुए। सोमवार को प्रदर्शनी का समापन हो गया।

मुख्यातिथि डीसी मुकुल कुमार और विशिष्ट अतिथि एडीसी अखिल पिलानी रहे। डीसी ने कहा कि प्रदर्शनी में भारत के स्वतंत्रता संग्राम में हरियाणा के योगदान के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई है। प्रदर्शनी में 1966 से 2021 तक हरियाणा में शिक्षा, लोक निर्माण विभाग, पर्यटन, कृषि, उद्योग सहित अन्य क्षेत्रों में किए गए विकास को आंकड़ों सहित दर्शाया गया। जिले के लोगों ने आगे आकर प्रदर्शनी का अवलोकन किया और प्रदेश के बारे में जानकारी हासिल की।

इतिहास जानने का अवसर मिला

एडीसी अखिल पिलानी ने कहा कि जन संपर्क विभाग की प्रदर्शनी से युवा पीढ़ी को स्वतंत्रता संग्राम के बारे में जानने का अवसर मिला। यह प्रदर्शनी काबिले तारीफ है। सीटीएम हरप्रीत कौर ने कहा कि चार दिन चली इस प्रदर्शनी में शहर के आम नागरिकों के साथ-साथ विभागीय कर्मचारी और अधिकारियों ने बारीकी से अवलोकन किया। सभी लोगों को हरियाणा के इतिहास को जानने का अवसर मिला है।

प्रदर्शनी में 20 पैनल स्थापित

डीआइपीआरओ डा. नरेंद्र सिंह ने मेहमानों का स्वागत किया। उन्होंने बताया कि प्रदर्शनी में 20 पैनल स्थापित किए गए है। इसके जरिये हरियाणा के स्वतंत्रता संग्राम में योगदान के बारे में अनोखी जानकारी मिली है। नेताजी सुभाष चंद्र बोस के योगदान, भिवानी का इतिहास, राजा राव तुला राम को योगदान, पलवल में महात्मा गांधी की गिरफ्तारी सहित अन्य एतिहासिक पहलुओं को तस्वीरों के माध्यम से देखने का अवसर मिला है। इस मौके पर जन संपर्क विभाग से लेखाकार अश्विनी मलिक, आइसीए मीना कुमारी, संजीव कुमार, पंकज धीमान, विक्रम सैनी, मनोज कुमार, विजय कुमार, राजकुमार, कृष्ण लाल व शीशन मौजूद रहे।

Edited By: Jagran