जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : लौहार माजरा स्थित श्रीमति केसरी देवी लोहिया जयराम पब्लिक स्कूल की छात्रा खुशी ने शारीरिक दूरी की नियम पालना कराने वाला यंत्र तैयार किया है। एक मीटर के दायरे में अगर कोई दूसरा व्यक्ति आता है तो यह यंत्र आवाज करना शुरू कर देता है। यह दिखने में आई कार्ड जैसा है जिसे आसानी से गले में डाला जा सकता है और शारीरिक दूरी की पालना नहीं करने वाले व्यक्ति को हिदायत देता है। खुशी ने कोरोना के बढ़ते खतरे से लोगों को दूर रखने के लिए यह यंत्र तैयार किया है, जिससे सार्वजनिक स्थल रेलवे स्टेशन, बस या किसी दूसरी जगह पर काम में लाया जा सकता है।

अल्ट्रासॉनिक सेंसर लगा हुआ

प्रिसिपल अंजू अग्रवाल ने बताया कि छात्रा ने कोविड-19 के चलते घर में रहकर ही अपनी प्रशिक्षिका अटल टिकरिग की प्रभारी हरप्रीत कौर के मार्गदर्शन में अत्यंत उपयोगी प्रोजेक्ट बनाया है। यह आई कार्ड जैसा दिखने वाला यंत्र है। जिसे आसानी से गले में पहना जा सकता है। इसमें अल्ट्रासॉनिक सेंसर लगा होने के कारण जैसे ही कोई अन्य व्यक्ति इसके एक मीटर के दायरे में आएगा, इसमें लगा बजर बज उठेगा।कोरोना संक्रमण प्रतिदिन विकराल रूप लेता जा रहा है। इसलिए प्रत्येक मनुष्य की जिम्मेदारी है कि वह अपने साथ-साथ दूसरों की सुरक्षा का भी ध्यान रखे।

पहले बना चुके टच फ्री हैंड सैनिटाइजर

स्कूल की छात्राओं ने कुछ दिन पहले टच फ्री हैंड सैनिटाइजर बनाया था जो बहुत कारगर साबित हुआ है। इसे भी कोरोना वायर से बचाव की ²ष्टि से बहुत अच्छा प्रयास देखा जा रहा है। इसी कड़ी में अब स्कूल की छात्रा खुशी ने अपनी प्रशिक्षिका की सहायता से एक ऐसा प्रोजेक्ट तैयार किया है, जिससे सामाजिक दूरी बनाए रखने में मदद मिलेगी।

भीड़भाड़ वाले स्थानों पर प्रयोग किया जा सकता

प्रिसिपल के अनुसार यह यंत्र भीड़भाड़ वाले स्थानों जैसे रेलवे स्टेशन, बैंक, टिकट खिड़की, सरकारी अस्पताल और सरकारी कार्यालयों में काफी कारगर साबित होगा। कोरोनाकाल में जयराम पब्लिक स्कूल की छात्राओं की दिखाई जा रही प्रतिभा की जयराम संस्थाओं के अध्यक्ष ब्रह्मस्वरुप ब्रह्मचारी महाराज, जयराम शिक्षण संस्थान के उपाध्यक्ष टीके शर्मा एवं निदेशक एसएन गुप्ता ने सराहना की।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021