पंकज आत्रेय, कुरुक्षेत्र : पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि कांग्रेस को इवेंट मैनेजमेंट नहीं आती है। भाजपा इस काम में माहिर है। वर्ष 2014 के चुनाव में उनकी सरकार को प्रदेश में कोई विरोध नहीं था, लेकिन नरेंद्र मोदी की इवेंट मैनेजमेंट पॉलिसी काम कर गई। प्रदेश सरकार भी इसी नीति पर काम कर रही है, लेकिन बुनियाद विकास सिर्फ दावों में ही सिमट कर रह गया। हुड्डा ने शिक्षा, स्वास्थ्य और नेशनल हाईवे निर्माण के आंकड़े गिनवाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल इन क्षेत्रों में एक भी राष्ट्रीय उपलब्धि बता दें, वे राजनीति छोड़ देंगे। भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने शुक्रवार की रात कुरुक्षेत्र में अपने समर्थकों और कार्यकर्ताओं के साथ चुनावी रणनीति बनाई। उनसे आसपास की सभी विधानसभा सीटों का फीडबैक लिया। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार आज जिस भी काम का श्रेय ले रही है, वह सभी प्रोजेक्ट उनके द्वारा शुरु किए गए थे। इसमें करनाल का कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज हो या कुरुक्षेत्र में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन। इस सरकार ने मेट्रो एक इंच भी आगे नहीं बढ़ाई। नेशनल हाईवे पांच साल में मात्र 39 किलोमीटर के ही बनाए, जबकि उनकी सरकार में 27 हजार करोड़ रुपये की लागत से 1893 किलोमीटर हाईवे बने थे। हुड्डा ने कहा कि हेप्पनिग हरियाणा में छह लाख करोड़ रुपये के विदेशी निवेश का दावा किया था, लेकिन उनके कुछ एनआरआइ उद्योगपति मित्रों ने बताया कि इसमें से सिर्फ चार प्रतिशत ही निवेश हुआ है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि ऑनलाइन की आड़ में सरकार ने आढ़ती और किसान का भाईचारा खत्म कर दिया है। बहुमत का दावा किया

भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि उनके कार्यकाल में कांग्रेस ने प्रदेश को नई दिशा दी थी। प्रति व्यक्ति आय से लेकर विकास तक में प्रदेश नंबर वन था। अब प्रदेश के लोगों का भाजपा से मोह भंग हो गया है। इस बार सिरसा और फतेहाबाद में भी कांग्रेस पार्टी की लहर है। हम वहां भी सीटें जीत रहे हैं, जहां कांग्रेस कभी भी नही जीती थी। इसमें मेवात भी शामिल है। हम 72 पार में काम चला लेंगे

अपने साथी पार्टी के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष डॉ.रामप्रकाश का कुशलक्षेम पूछने के बाद उम्र का जिक्र चल पड़ा। हुड्डा बोले, डॉ.साहब की उम्र 75 पार हो चुकी है। वे मुझे तीन साल बड़े हैं। यानि मैं 72 पार का हूं। चुटकी लेते हुए उन्होंने कहा कि इस बार चुनाव में वे 72 पार से ही काम चला लेंगे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप