जेएनएन, शाहाबाद (कुरुक्षेत्र)। कुरुक्षेत्र से अंबाला की ओर जा रही एक बस में चालक को अचानक हार्ट अटैक आ गया। इससे वह बस से संतुलन खो बैठा और बस हिलने-डुलने लगी। बस सड़क पर आड़ी-तिरछी भागने लगी तो यात्रियों में हड़कंप मच गया और डर के मारे वे शोर करने लगे। ले‍किन, चालक के पास वाली सीट पर बैठे सहायक ने तत्‍परता से बस की स्‍टेयरिंग संभाल लिया आैर उसे हादसे का शिकार होने से बचा लिया। इससे बस में सवार 55 यात्रियों की जान बच गई। ये यात्री मध्‍यप्रदेश के थे अौर श्री अमरनाथ यात्रा पर जा रहे थे।

मध्यप्रदेश से अमरनाथ यात्रा के लिए जा रहे थे श्रद्धालु

सहायक ने स्टेरिंग संभालते हुए बस को सड़क किनारे रोक दिया। इसके बाद बस में सवार 55 यात्रियों की जान में जान आई। सहायक बस को अस्पताल में ले गया, जहां पर डाक्टरों ने जांच के बाद चालक को मृत घोषित कर दिया। जानकारी के अनुसार, मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले से अमरनाथ यात्रा के लिए 55 श्रद्धालु बस में चले थे।  बस कुरुक्षेत्र के शाहाबाद के पास जीटी रोड पर सूरज ढाबा के नजदीक पहुंची चालक राजेश को अचानक हार्ट अटैक आ गया।

इससे बस असंतुलित हो गई और इधर- उधर भागने लगी। इससे यात्रियों ने डर के मारे शोर मचाना शुरू कर दिया। इसी बीच चालक के साथ बैठे सहायक दीपक ने तत्‍परता दिखाते हुए बस की स्टेयरिंग संभाली और बस को रोककर राजेश को सीट पर लिटा दिया। इसके बाद वह बस को पास में ही स्थित मोहड़ी के आदेश अस्पताल मोहड़ी ले गया। वहां डॉक्टरों ने जांच के बाद राजेश को मृत घोषित कर दिया।

वहीं हादसे के बाद आदेश अस्पताल प्रशासन ने सभी यात्रियों के ठहरने की व्यवस्था की और हेल्पर्स सोसायटी के प्रधान तिलक अग्रवाल की टीम ने भोजन की व्यवस्था की। इसके बाद बस के मालिक ने अन्य चालक की व्यवस्था की गई। इसके बाद श्रद्धालु अमरनाथ यात्रा के लिए रवाना हो गए।

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप