जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : अखिल भारतीय सारस्वत ब्राह्मण सभा हरियाणा के जरूरतमंद और मेधावी ब्राह्मण बच्चों के लिए एक कोष बनाएगा। इस कोष से पैसा उनके अध्ययन को सुचारू रूप चलाने में लगाया जाएगा।

यह फैसला रविवार को सभा के प्रधान महिपाल शर्मा की अध्यक्षता में ब्रह्मसरोवर स्थित परशुराम धाम-सारस्वत ब्राह्मण धर्मशाला में आयोजित समारोह में लिया गया। समारोह में मुख्यातिथि बिजली निगम के पूर्व चीफ इंजीनियर एवं वर्तमान में उत्तरी हरियाणा उपभोक्ता शिकायत निवारण मंच के चेयरमैन रामकिशन शर्मा रहे और अध्यक्षता एलएनजेपी अस्पताल के एमएस डा. शैलेंद्र शैली ने की।

कुवि के पूर्व परीक्षा नियंत्रक अमरनाथ शर्मा ने अपनी पत्नी राजरानी व नानी द्वारकी देवी की स्मृति में धर्मशाला में सभागार के नवीनीकरण के लिए एक लाख रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि शारदीय नवरात्रों के दौरान परिवार की दिवंगत महिलाओं की याद में दी गई आर्थिक मदद वास्तव में मां की वास्तविक पूजा है। इसके अलावा सभा प्रधान ने सारस्वत ब्राह्मण धर्मशाला में अपने माता-पिता की स्मृति में पत्थर लगवाने के लिए अपने निजी कोष से 51000 रूपये देने की घोषणा की। मुख्यातिथि रामकिशन शर्मा ने सारस्वत ब्राह्मण सभा की ओर से मेधावी एवं जरूरतमंद बच्चों के लिए कोष बनाए जाने में अपना पूरा योगदान देने की घोषणा की। एमएस डा. शैलेंद्र शैली ने सभा की ओर से जनहित के कार्याें की प्रशंसा करते हुए विश्वास दिलाया कि वे कोरोना महामारी में अपना योगदान देते रहेंगे। मुख्यातिथि रामकिशन शर्मा, डा. शैलेंद्र शैली और अमरनाथ शर्मा को शाल व भगवान परशुराम की प्रतिमा देकर सम्मानित किया। इस मौके पर सभा प्रबंधक धर्मपाल शर्मा, उप-प्रधान सत्यवान शर्मा, जींद जिला प्रधान दीपचंद शर्मा, युवा प्रधान राजेश भारद्वाज, शहरी प्रधान विपिन शर्मा, ग्रामीण प्रधान रोशन लाल शर्मा, पूर्व उप-निदेशक कृषि देवी दयाल शर्मा, वीरेंद्र शर्मा व रविद्र शर्मा मौजूद रहे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस