जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : विधानसभा चुनावों में सुबह सात बजे से शुरू हुए मतदान में ईवीएम ने कई जगह धोखा दिया। ईवीएम के धोखे के चलते इन बूथों पर मतदान बाधित रहा और लोगों ने हो हल्ला किया। इनमें से दो जगह पर नई ईवीएम लगाने के बाद ही काम सुचारू हो पाया। ईवीएम के इस धोखे से अधिकारियों को फजीहत झेलनी पड़ी। दूसरी ओर पिहोवा में जजपा प्रत्याशी ने भाजपा के स्टीकर लगी गाड़ी के मतदान केंद्र परिसर में आने पर हंगामा किया।

सबसे पहले सुबह सात बजे ही थानेसर विधानसभा के बूथ नंबर 121 पर पहुंचे कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थक ने हो हल्ला किया। इस हो-हल्ले के चलते मतदान 20 मिनट देरी से शुरू हो पाया। ड्यूटी पर तैनात अधिकारियों ने इसकी शिकायत पुलिस को सौंपी है। शिकायत में लिखा गया है कि कांग्रेस प्रत्याशी का समर्थक देरी से केंद्र पर पहुंचा और दोबारा मॉक पोल करने की मांग करने लगा। इस पर पीठासीन अधिकारी ने मशीन को सील लगाने की बात बताई तो उसने हो हल्ला करना शुरू कर दिया। गांव बीड़ अमीन में 121 नंबर बूथ की मशीन हुई खराब

थानेसर विधानसभा के बूथ नंबर 121 पर सुबह 10:51 मिनट पर ईवीएम खराब हो गई। तब तक 245 वोट पोल हो गई थी। इसके बाद नई मशीन पहुंचने में एक घंटे का समय लगा और दोबारा मतदान 11:45 मिनट पर शुरू हो पाया। मशीन की खराबी के चलते मतदाता बाहर बैठे इंतजार करते रहे। 174 नंबर बूथ पर किया हंगामा

गांव हथीरा में 174 नंबर बूथ पर भी 11:45 बजे के लगभग मशीन खराब हो गई। तब तक 311 वोट पोल हो गई थी। इसके बाद दूसरी मशीन पहुंचने में देरी हुई। मशीन पहुंचने में देरी होने पर लोगों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने लोगों को समझाबुझाकर शांत किया। इसके बाद एक बजे के लगभग अधिकारी नई मशीन लेकर पहुंचे। तब जाकर मतदान शुरू हो पाया। मशीन में तकनीकी खामी के चलते हुई परेशानी

गांव ज्योतिसर में बूथ नंबर 30 पर भी ईवीएम में बार-बार तकनीकी खामी आने पर कई बार मतदान रोकना पड़ा। इस कारण सुबह आठ बजे से लेकर साढ़े नौ बजे तक मतदाताओं को परेशानी झेलनी पड़ी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस