संवाद सहयोगी, लाडवा : लाडवा क्षेत्र में डेंगू के मरीज सामने आने लगे है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों पर ही नजर दौड़ायें तो छह डेंगू के मरीज हैं। इसमें से चार लाडवा के शहरी क्षेत्र व दो ग्रामीण क्षेत्र में हैं। यदि स्वास्थ्य विभाग इसके प्रति पूरी तरह से सतर्क नहीं हुआ तो इनकी संख्या बढ़ सकती है। इस बुखार से पीड़ित रोगियों का न केवल निजी चिकित्सक फायदा उठा रहे हैं, बल्कि बकरी के मालिक व नारियल का पानी बेचने वाले भी पीछे नहीं है। निजी चिकित्सकों की माने तो इस समय डेंगू का प्रकोप जोरों पर है। लाडवा व आस-पास के ग्रामीण क्षेत्र से डेंगू के मरीज पहुंच रहे हैं। अधिकतर रोगी निजी अस्पतालों में अपना इलाज करवा रहे है।

विभाग डेंगू के प्रति है गंभीर

लाडवा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के स्वास्थ्य निरीक्षक जसमेर सिंह ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार लाडवा क्षेत्र में डेंगू के छह मरीज हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीम जहां-जहां डेंगू के मरीज मिल हैं, उनके परिवार व आस-पास के लोगों के रक्त के सैंपल ले रही है। विभाग की टीम पूरी तरह सतर्क है। विभाग ने लाडवा में नपा प्रशासन के सहयोग से वार्डों में फोगिग कराई है।

फोगिंग कराने के आदेश

ग्रामीण क्षेत्र में बीडीपीओ को डेंगू से बचाव के लिए फोगिग कराने के आदेश उपायुक्त ने दिए हैं। लाडवा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भी फोगिग कराई गई है। सभी निजी अस्पतालों को सख्त आदेश जारी किए गए हैं। यदि उनके पास डेंगू से संबंधित रोगी आता है तो उसकी सूचना स्वास्थ्य विभाग को दें, ताकि उस रोगी सहित उसके परिवार व आस-पास के लोगों को सैंपल लिए जा सकें।

सावधानी में ही बचाव : डा. अंजलि

लाडवा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की मुख्य चिकित्सक डा. अंजलि वैद्य ने कहा कि डेंगू से सावधानी में ही बचाव है। डेंगू का मच्छर ठहरे हुए साफ पानी में पनपता है, इसलिए अपने आसपास कहीं भी पानी न ठहरने दें। उन्होंने कहा कि इसके लिए जागरूक होने की आवश्यकता है। निजी अस्पताल संचालक कमाई के चक्कर में इसका ज्यादा भय दिखा रहे हैं। रोगी को घबराने की जरूरत नहीं है। वह बुखार होने पर सीधे अस्पताल आएं।

नारियल विक्रेता उठा रहे लाभ

लाडवा में बकरी का दूध व कच्चा नारियल (पानी वाला) महंगा हो चुका है। कच्चा नारियल 30-40 रुपये प्रति नारियल बिकता था, वह अब 60 से 70 रुपये में बिक रहा है। वहीं बकरी मालिक भी पीछे नहीं हैं। बकरी का दूध 500 से 600 रुपये प्रति लीटर तक बिक रहा है। निजी चिकित्सकों के साथ-साथ डेंगू बुखार का बकरी मालिक व नारियल बेचने वाले खूब लाभ उठा रहे है।

Edited By: Jagran