जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : भारतीय किसान यूनियन के शहरी अध्यक्ष पवन चौधरी ने बिजली निगम किसानों से लाखों रुपये जमा करवाने के बाद भी ट्यूबवेल कनेक्शन नहीं दे रहा है। धान का सीजन आने पर निगम की अनदेखी के चलते किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सरकार भी आए दिन नई-नई शर्तें लागू कर किसानों को बिजली कनेक्शन देने से बच रही है।

उन्होंने यह बात वीरवार को अपने निवास पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही। उन्होंने कहा कि किसानों को ट्यूबवेल कनेक्शन के लिए कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार ने ट्यूबवेल कनेक्शन के लिए अब एक नई शर्त लागू की गई है। इस शर्त के अनुसार अब उन्हीं किसानों को कनेक्शन दिए जाएंगे जो सिचाई विभाग से अनापत्ति प्रमाण पत्र लेकर आएंगे। इस शर्त से सालों पहले सिक्योरिटी राशि जमा करवाने वाले किसानों के काम भी अटक गए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार भूजल स्तर 100 फीट से गहरा होने वाले ब्लाक में ट्यूबवेल के नए कनेक्शन जारी नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि सरकार की इस शर्त ने किसानों की समस्याएं बढ़ा दी हैं। ऐसे में सालों पहले सिक्योरिटी राशि जमा करवाने वाले किसानों ने भाकियू के बैनर तले धरने-प्रदर्शन शुरू करने की बात कही है।

किसान मोर्चे की मंडल समितियां जल्द होगी गठित : सिद्धू

संवाद सूत्र, शाहाबाद मारकंडा : भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के जिला महामंत्री विकास सिद्धू ने कहा कि प्रदेश सरकार निरंतर किसान हितैषी फैसले ले रही है। मुख्यमंत्री किसान एवं खेतिहर जीवन सुरक्षा योजना में दुर्घटना होने पर दिए जाने वाले मुआवजे की रकम को बढ़ाया गया है। मुख्यमंत्री का यह कदम सराहनीय है। उन्होंने कहा कि किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष जगदीप सांगवान के निर्देश पर जल्द ही मंडलों की कार्यकारिणी का गठन किया जाएगा। इस मौके पर किसान मोर्चा के जिला मीडिया प्रमुख सूर्या, बाबैन मंडल प्रमुख भीम सिंह मौजूद रहे।

Edited By: Jagran