संवाद सहयोगी, लाडवा : शिवाला रामकुंडी में शुक्रवार रात को वामन द्वादशी मेला समिति की तरफ से वामन द्वादशी मेले का आयोजन किया गया। मेले का शुभारंभ समाजसेवी सचिन गर्ग ने महाआरती के साथ किया। मेले में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें बच्चों ने रंगारंग प्रस्तुतियां देकर सबको मंत्रमुग्ध कर दिया।

मुख्यातिथि सचिन गर्ग ने कहा कि पर्व व धार्मिक आयोजन हमें हमारी वैभवशाली संस्कृति से जोड़ते है। देश की संस्कृति हमें देश के प्रति समर्पण व देशवासियों के लिए सम्मान का भाव सिखाती है। मेलों, पर्वों को मनाने से जहां हमारी नई पीढ़ी को अपनी सांस्कृतिक धरोहर सौंपने का मौका मिलता है वहीं समाजसेवा की भावना भी प्रबल होती है। इससे पूर्व मुख्यातिथि व अतिथियों ने मंदिरों की पालकियों की महाआरती की। 108 थालियों से महाआरती की गई। कार्यक्रम में जन्माष्टमी पर आयोजित प्रतियोगिताओं में प्रतिभागी बच्चों को पुरस्कार देकर सम्मानित भी किया गया। मुख्यातिथि ने मंदिरों के पुजारियों का स्मृति चिन्ह व कार्यक्रम के समापन पर समिति अतिथियों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। इससे पूर्व वामन द्वादशी मेला समिति की ओर से शहर की सभी धार्मिक व सामाजिक संस्थाओं के सहयोग से पालकी यात्रा का आयोजन किया गया, जिसे समाजसेवी प्रदीप गर्ग भगवा ध्वज दिखाकर खेड़ा मंदिर से रवाना किया। बैंड बाजों की अगुवाई में शहर के विभिन्न मार्गों से पालकी यात्रा शिवाला रामकुंडी परिसर में पहुंची। जहां श्रद्धालुओं ने पूजा-अर्चना की व माथा टेका। इस मौके पर प्रवेश व्यास, संजीव शर्मा, शालू बंसल, दिनेश सिघल, नरेश गोस्वामी, दीपक टोकी, अखिल सिघल, सुनी गोयल, रजत बंसल, सुनील भट्ट, गिरधर व श्याम लाल मौजूद रहे।

Edited By: Jagran