डीसी शर्मा, इस्माईलाबाद : चुनाव में हर बार मुद्दा बनने वाली एसवाइएल नहर के किनारे बसे गांवों के लोगों का भी कहना है कि नेक नीयत वाला ही मुख्यमंत्री चाहिए। बदलाव हुआ है और आगे भी होगा। एक मौका और दिया जाए तो भ्रष्टाचार का पूरी तरह से अंत हो जाएगा।

हलका पिहोवा से गुजरती एसवाइएल नहर के किनारे बसे गांव सलपानी के पास सड़क पर खड़े जसविद्र सिंह और दिलबाग सिंह ने कहा कि प्रदेश का चहुंमुखी विकास तभी संभव है जब केंद्र व राज्य सरकार एक ही पार्टी की हो। इन युवाओं ने बात आगे बढ़ाते कहा कि बदलाव भी आ सकता है। यह जनता के मूड पर निर्भर है। यहां से आगे चले तो भूस्थला गांव के पवन शर्मा और संजय शर्मा का कहना था कि ऐसे नेता का चुनाव किया जाना चाहिए जिसका हाथ पकड़कर अपना सुख दुख सुनाया जा सके। गोगपुर गांव के विक्रम का कहना था कि नेक नीयत वाला सीएम होना चाहिए। इससे नीचे भी सुधार रहता है। इस युवक ने यहां तक कहा कि जिन्होंने राजनीति को धन संग्रह का धंधा बनाया उन्हें वोट की चोट दी जानी चाहिए। गांव झांसा के विजय और पवन कुमार का कहना था कि प्रदेश के भविष्य को देखकर ही वोट देंगे ताकि प्रदेश गलत हाथों में न जाए। इन युवकों ने कहा कि बेरोजगारी और भ्रष्टाचार चरम पर है। ऐसे नेता का चुनाव होना चाहिए जो कि अधिकारियों पर नकेल कस सके। गांव शांति नगर में बलबीर और विनय का कहना था कि इस बार किसी की भी लहर नहीं है। चुनाव बड़ा टेढ़ा हो चला है। इस बार जनता अपनी मर्जी का विधायक चुनने जा रही है जो कि बेहद सही है। रोहटी गांव में जसवंत सिंह का कहना था कि इस बार किसी दल या बल का कोई जोर नहीं है। इस बार जनता सही नेता का चुनाव करने जा रही है। अजरावर के अमित कुमार का कहना है कि एसवाइएल का मुद्दा पुराना और जर्जर हो चुका है। अब रोजगार बड़ा मुद्दा है। दुकानदार विकास और राजन का कहना है कि कारोबार तबाह होकर रह गए हैं। सरकार को हर वर्ग के लिए नीति बनानी चाहिए। कुल मिलाकर वोटर इस बार नेक नीयत वालों का चुनाव करने का मन बना चुका है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस