जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : ओएलएक्स पर ऑनलाइन एक्टिवा खरीदने के नाम पर ठगी के शिकार हुए व्यक्ति ने मुख्यमंत्री व हरियाणा पुलिस को ट्वीट कर जानकारी दी तो पुलिस ने खुद शिकायतकर्ता से संपर्क साध लिया। पुलिस ने शिकायतकर्ता को इस संबंध में एसपी कुरुक्षेत्र को शिकायत देने के लिए कहा। उसने एसपी को शिकायत दी, जिस पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने दो युवकों के खिलाफ केस दर्ज किया है। मामले की जांच एसआइ नरेंद्र कुमार को सौंपी है।

आजाद नगर निवासी प्रदीप नैन ने थाना शहर में शिकायत दर्ज कराई कि ओएलएक्स पर एक स्कूटी बेचने के बारे में उसे जानकारी मिली थी। ओएलएक्स में जानकारी देने वाले ने अपने आप को राकेश फौजी बताया था और कहा कि वह स्कूटी बेचना चाहता है। उसे ऑनलाइन स्कूटी को दिखाया, जिस पर उनके बीच डील हो गई। आरोपित ने उसे जो खाता संख्या दी वह पप्पू नाम के व्यक्ति का था। उसने 19 जून 2019 को 48 हजार 500 रुपये खाते में जमा करा दिए। आरोपितों ने उसके पास अपना कैंटीन कार्ड व अन्य दस्तावेजों की प्रतियां भेजी और उसका विश्वास जीत लिया। उसके बाद वह स्कूटी भेजने में टालमटोल करने लगा। बाद में उसने अपना फोन ही बंद कर दिया। जब उसने दूसरे नंबर से फोन पर बात की तो वह बदतमीजी के साथ पेश आया और उसके साथ गाली-गलौच दी। शिकायतकर्ता का आरोप है कि आरोपित ने पेटीएम कस्टमर केयर बनकर बात की और पूरी घटना की जानकारी ली और कहा कि वह इस खाते को सीज करवा दूंगा। शिकायतकर्ता ने जब पेटीएम से ट्वीट के माध्यम से संपर्क किया तो पता चला कि वह पेटीएम का कोई कर्मचारी नहीं है। प्रदीप ने दिखाई जागरूकता

शिकायकर्ता प्रदीप नैन ने अपनी नैतिक जिम्मेदारी निभाते हुए अपने साथ हुई धोखाधड़ी की मुख्यमंत्री व हरियाणा पुलिस को ट्वीट पर दी, ताकि भविष्य में कोई इनका निशाना न बन सके। ट्वीट कर बताया था कि यह एक आपसी गैंग है जो आम जनता को लाखों रुपये का चूना लगा रहा है। इस पर करनाल के एसपी कार्यालय ने प्रदीप कुमार से संपर्क किया। उसे कहा गया कि वे एसपी कुरुक्षेत्र से संपर्क करें। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए पानीपत के पूरेवाला कॉलोनी निवासी राकेश कुमार व पप्पू के खिलाफ केस दर्ज किया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप