संवाद सहयोगी, शाहाबाद : प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत मीरी-पीरी अस्पताल में रोजाना 20-25 गरीब परिवार इस योजना से लाभ ले रहे हैं। संस्थान के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. संदीप इंद्र सिंह चीमा ने बताया की अब तक मीरी-पीरी अस्पताल में इस योजना के तहत 332 कार्ड धारकों ने लाभ लिया है। उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत 1578 पैकेज के तहत इलाज करवाया जा सकता है। पहले इनमें से 303 पैकेज केवल सरकारी अस्पतालों के लिए आरक्षित थे, लेकिन अब सरकार द्वारा इनमें से 157 और पैकेज प्राइवेट पंजीकृत अस्पतालों के लिए खोल दिए गए हैं। चीमा ने बताया कि इस योजना के तहत मीरी-पीरी अस्पताल में अब अधिकतम बीमारियों के इलाज संभव है। बालाराम का हुआ निशुल्क उपचार

मीरी-पीरी अस्पताल ने बताया कि 60 साल का बाला राम पिछले करीब सात साल से घुटने के दर्द से परेशान था, और जिसके इलाज पर करीब 80 हजार खर्च होना था। तीन दिन पहले ही हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. साहिल सवाल, डॉ. करमिदर कौर ढिल्लो एवं सदस्यों ने उनके घुटने को बदलने का सफल आपरेशन किया है। उन्होंने बताया कि यह इलाज आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत मुक्त किया गया और अब करीब दो से तीन दिनों में ही बाला राम चलना शुरू करेगा। बाला राम के परिवार ने इस योजना में मुफ्त इलाज के दौरान भारत सरकार और हरियाणा सरकार का धन्यवाद किया है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस