जासं, कुरुक्षेत्र : पिपली में जनहित धर्मशाला शिविर लगाकर आशावर्करों को घरेलू हिसा रोकने और बाल विवाह रोकने के बारे में विस्तार से बताया। शिविर में करीब 60 आशावर्करों और पंचायत सदस्यों ने भाग लिया।

महिला संरक्षण एवं बाल विवाह निषेध अधिकारी सविता राणा ने कहा कि शारीरिक रूप से प्रताड़ित करना, आत्महत्या की धमकी देना आदि घरेलू हिसा में आते हैं। अगर ऐसा कोई किसी के साथ करता है, तो वह महिला संरक्षण एवं बाल विवाह निषेध विभाग में शिकायत कर सकती है। शिकायत मिलने पर आरोपी के खिलाफ कार्रवाई में की जाएगी। उन्होंने सभी आशा वर्करों से अपील की कि वे घर-घर तक महिलाओं के हितों के बारे में जागरूक करें। उससे अधिक से अधिक पीड़ित महिलाएं इसका लाभ उठा सकें।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस