फोटो संख्या : 26, 28 - पिछले 10 दिनों से धूप न निकलने पर खेतों से नहीं सूख रहा पानी - जनवरी माह में करीब 10 दिन हुई बूंदाबांदी जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : बेमौसमी बारिश आफत बनने लगी है। शनिवार दिनभर बूंदाबांदी और शाम को तेज बारिश होने से जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया। जिले में करीब 30 एमएम बारिश दर्ज की गई। शनिवार के अलावा पिछले कई दिनों में चली बूंदाबांदी से आलू और मटर की फसल खराब हो गई है। इसके साथ गेहूं और सरसों की फसल पर भी विपरीत असर पड़ने लगा है। धरतीपुत्र की मौसम के रंग को देखकर चिता बढ़ गई है।

शनिवार सुबह ही बूंदाबांदी शुरू हो गई। दिनभर लगातार बूंदाबांदी चलने से लोगों अपने घरों में ही दुबके रहे। शाम को छह बजे बूंदाबांदी एक साथ तेज हो गई। करीब आठ बजे तक बारिश हुई। शहर में सड़कों और गलियों में पानी जमा हो गया। इसके साथ खेतों में भी पानी जमा होने लगा। मौसम विशेषज्ञों की माने तो शनिवार को 30 एमएम बारिश दर्ज की गई। शनिवार को अधिकतम तापमान 12.7 डिग्री और न्यूनतम तापमान 10.6 डिग्री सेल्सियस रहा है। 100 प्रतिशत नमी के साथ हवा की गति 15 किलोमीटर प्रतिघंटा के करीब रही है। मौसम विशेषज्ञों ने अगले दो दिनों मौसम का मिजाज इसी तरह रहने का अनुमान जताया है। ऐसे में किसानों को गेहूं और सरसों की फसल प्रभावित होने का डर सताने लगा है।

पानी में फसल खराब

गांव बारना के गुरचरण और रिछपाल ने बताया कि बारिश से उनकी आलू और मटर की फसल चौपट हो गई है। पानी में आलू खराब हो गया है। मटर की भी तुड़वाई नहीं हो पा रही है। तुड़वाई न होने पर मटर खेत में ही पीली हो गई है। ऐसे में किसानों को नुकसान हो रहा है। गेहूं और सरसों की फसल भी खराब हो सकती है। आलू में कई तरह की बीमारी आ सकती है।

बारिश का आंकाड़ा

दिन एमएम

छह जनवरी दो एमएम के साथ जिला भर में बूंदाबांदी

सात जनवरी 16 एमएम औसतन

आठ जनवरी 38 एमएम औसतन

नौ जनवरी 13 एमएम लाडवा में जिला भर में बूंदाबांदी

19 जनवरी दो एमएम के साथ जिला भर में बूंदाबांदी

20 जनवरी 7 एमएम थानेसर के साथ जिला भर में बूंदाबांदी

21 जनवरी 4 एमएम के साथ जिला भर में बूंदाबांदी

-----

सोमवार से राहत के आसार

चौधरी चरण सिंह कृषि विवि हिसार के कृषि विज्ञान केंद्र की मौसम विशेषज्ञ डा. ममता ने बताया की रविवार को भी मौसम का मिजाज इसी तरह का रहेगा। इसके बाद सोमवार से मौसम के खुश्क रहने का अनुमान है।

Edited By: Jagran