जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र :

हरियाणा विद्यालय बोर्ड की ओर से 10वीं और 12 वीं की बोर्ड की परीक्षाएं सात मार्च से शुरू हो जाएंगी। बोर्ड और शिक्षा विभाग की ओर आयोजित परीक्षाओं की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। परीक्षाओं के लिए आवश्यक इंतजाम कर दिए गए हैं। स्वयं जिला शिक्षा अधिकारी शिक्षकों की बैठकें लेकर उन्हें नकल रोकने के लिए प्रेरित कर रहे हैं और उन्हें बच्चों को प्रेरित करने का आह्वान कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि जिले में 10 वीं और 12वीं की परीक्षाओं में इस वर्ष लगभग 20 हजार विद्यार्थी परीक्षा देंगे। जिनके लिए बोर्ड की ओर से 68 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं।

बोर्ड की ओर से लगभग एक माह तक चलने वाली 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं का समय आ चुका है। बोर्ड की ओर से दोनों कक्षाओं की परीक्षा का आयोजन सात मार्च से किया जाएगा। जिसमें नकल रोकने के लिए स्वयं बोर्ड की परीक्षा होती है। जिसमें स्कूलों के शिक्षकों के साथ ही शिक्षा विभाग के अधिकारी भी अहम भूमिका में होंगे। बोर्ड की ओर से नकल रोकने के लिए नकलरोध उड़नदस्ते भी परीक्षाओं में प्रयोग किए जाएंगे। जिनमें छह से सात उड़नदस्ते होते हैं और हर स्कूल में आब्जर्वर की नियुक्ति भी बोर्ड की ओर से की जाती है जो नकल पर नकेल कसता है। इस वर्ष बोर्ड की परीक्षाओं में 10वीं में लगभग 13 हजार और 12वीं में सात हजार विद्यार्थी परीक्षा देंगे। बाक्स

कम हो रहा है नकल का चलन जिला शिक्षा अधिकारी अरुण आश्री ने बताया कि उत्तरी हरियाणा में वैसे तो पहले भी नकल का चलन काफी कम रहा है, लेकिन पिछले एक दशक में यह लगभग समाप्त सा हो गया है। उन्होंने बताया कि वे स्वयं भी स्कूलों में जाकर छात्रों को नकल न करने के प्रति जागरूक कर रहे हैं और शिक्षक भी बच्चों को बेहतरीन तैयारी के लिए प्रोत्साहित करते हैं। कुरुक्षेत्र में शिक्षा का स्तर काफी अच्छा है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस