फोटो संख्या- 23---18 दिसंबर को कुवि में होगा मानवाधिकार आयोग की ओर से सम्मेलन

जागरण संवाद केंद्र, कुरुक्षेत्र : प्रदेश मानवाधिकार आयोग के सदस्य जेएस अहलावत ने कहा कि लोगों को उनके मानव अधिकारों के प्रति सचेत करने के लिए से 18 दिसंबर को एक दिवसीय सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। सम्मेलन में मुख्य अतिथि राज्यपाल जगन्नाथ पहाड़िया होगे।

वे सोमवार को स्थानीय लघु सचिवालय में सम्मेलन से जुड़ी तैयारद को लेकर जिले के अधिकारियों की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आज के समय में लोगों को उनके अधिकारों के बारे में पता होना चाहिए। लोगों को समय-समय पर मानवाधिकारों के प्रति जागरूक होना चाहिए। इस सम्मेलन में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव से लेकर राजस्व विभाग के सभी अधिकारी भाग लेंगे। सम्मेलन का मुख्य उद्देश्य लोगों के अधिकारों में राजस्व के अधिकारियों की क्या भूमिका होती है, उसके बारे में विस्तार से बताया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस सम्मेलन में 11 जिलों के अधिकारी भाग लेंगे। इससे पहले भी ऐसा सम्मेलन गुड़गाव में आयोजित किया जा चुका है। आम लोगों को पटवारी से लेकर राजस्व विभाग के जो भी नौकरशाह होते है, उनसे जो काम पड़ते हैं, उन कामों में कोई दिक्कत न आए, इसके बारे में सम्मेलन में बताया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमारे संविधान में मानवाधिकार केप्रति जो भी सुविधाएं व शक्तिया है, उसके बारे में आम लोगों को जागरुक होना पडे़गा। बैठक के बाद हरियाणा मानवाधिकार आयोग के सदस्य जेएस अहलावत व उपायुक्त निखिल गजराज ने सम्मेलन से जुड़े हुए स्थानों का निरीक्षण किया तथा मौके पर उपस्थित अधिकारियों को दिशा-निर्देश भी दिए।

इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त डॉ. यश गर्ग, कुवि कुलसचिव डॉ. केसी रल्हाण, थानेसर के एसडीएम अशोक बासल, नगराधीश सतबीर सिंह कुंडु, अंडर ट्रेनिंग आइएएस प्रियंका सोनी, जिला राजस्व अधिकारी अशोक मलिक, डीएफएससी जीपीएस सिकरी, जिला शिक्षा अधिकारी सुनिता रूहिल आदि उपस्थित रहे।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर