जागरण संवाददाता, करनाल

स्मार्ट सिटी परियोजनाओं में से एक अहम प्रोजेक्ट आइसीसीसी (इंटाग्रेटिड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर) के पहले टेस्ट में सफलता हासिल हुई है। बुधवार रात उपायुक्त एवं करनाल स्मार्ट सिटी लिमिटेड के सीइओ निशांत कुमार यादव ने सेक्टर-12 स्थित आइसीसी सेंटर का दौरा कर इस डेमो को वीडियो वाल पर लाइव देखा और प्रोजेक्ट को सफलता की ओर ले जाने वाली समूची टीम को बधाई दी।

वीडियोनेटिक्स कंपनी के रीजनल सेल्स मैनेजर मोहम्मद अफजल ने बताया कि आइसीसीसी का ट्रायल रन सफल रहा है। प्रोजेक्ट की इस प्रक्रिया में शहर के भिन्न-भिन्न जंक्शन पर करीब 250 सर्विलांस कैमरे, इंटेलिजेंस ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम के 150 कैमरे लगाए जाएंगे। जिनकी शुरूआत हो चुकी है। पहले से ही लगाए गए 200 कैमरे भी रहेंगे। सिटीजन सेफ्टी के तहत यदि कोई वाहन कांप्लेक्स हो जाता है या कोई संदिग्ध वस्तु चौक-चौराहे पर लावारिस मिलती है या पांच या इससे ज्यादा लोग एक जगह एकत्रित हो जाएं तो ऐसी सूचनाओं को भी यह कैमरे सेंटर तक पहुंचाएंगे।

ऐसे हुआ यह सब

सीइओ निशांत कुमार यादव ने बताया कि टेस्ट के लिए सेक्टर छह चौक का चुनाव किया गया था। चौक पर रेड लाइट वायलेशन डिटेक्शन के दो कैमरे, ऑटोमेटिक नंबर प्लेट रिकोगनिशन के लिए चार कैमरे, फिक्स बॉक्स यानि सर्विलांस के दो सीसीटीवी कैमरों के अतिरिक्त एमरजेंसी कॉल बॉक्स तथा एडॉप्टिव ट्रैफिक कंट्रोल सिस्टम लगाकर उसका आइसीसी सेंटर में एनालिस्टिक सॉफ्टवेयर के जरिए वीडियो स्क्रीन पर लाइव देखा गया। कैमरो द्वारा की गई कैप्चरिग के बाद सेंटर में भेजी गई वीडियो एकदम स्पष्ट व स्टीक थी। इस बीच सीइओ ने इसी जंक्शन पर लगे इसीबी (एमरजेंसी कॉल बॉक्स) सेंटर से की गई कॉल की रिसीविग भी देखी।

Edited By: Jagran