संवाद सहयोगी, निसिग : क्षेत्र की विभिन्न गोशालाओं में गोपाष्टमी पर्व धूमधाम से मनाया गया। गोशालाओं में गोभक्तों ने भारी संख्या में पहुंच गोमाता का पूजन कर गुड व आटा सहित अन्य व्यंजन परोसे। कुछ महिला श्रद्धालुओं ने गाय को लाल रंग की घोटेदार चुनरी उढ़ाकर चरण स्पर्श किए। चारा खिलाने के साथ ही उनके आगे दीप प्रज्जवलित किए गए। गोशालाओं में हवन व भंडारों का आयोजन भी किया गया। श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया। वहीं गोपाष्टमी पर गोचारे के लिए दान भी दिया गया। गांव अमूपुर स्थित श्रीराधा कृष्ण आदर्श गोशाला, श्रीकृष्ण गोपाल गोशाला निसिग, गोशाला गोंदर, बहलोलपुर, जुंडला व उपलाना में संचालक गोपाल गोस्वामी के मार्गदर्शन मे हवन किया गया। गो भक्तों ने भारी श्रद्धा के साथ आहुति डाल पुण्य का लाभ लिया। अमूपुर गोशाला में श्री राधा कृष्ण मंदिर निर्माण के लिए समाजसेवी संजय मैहला ने भूमि पूजन किया। संकीर्तन में गोभक्तों ने कान्हा के भजनों से निहाल किया।

कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि गोसेवा आयोग के प्रदेश चेयरमैन श्रवण गर्ग पहुंचे। उन्होंने कहा कि निकट भविष्य में गोशाला प्रबंधन कमेटी के प्रयासों से आत्मनिर्भर बनेगी। अमुपुर माजरा गोशाला में सौर ऊर्जा प्लांट लगाया जाएगा। गोवंश सडक़ों पर धक्के न खाए इसके लिए प्रदेश के हर गांव में गोशाला बनाई जाएगी।

जिला परिषद चेयरमैन प्रतिनिधि संजय मैहला ने कहा कि देसी नस्ल की गाय का विशेष संरक्षण होना चाहिए। जिसके शरीर में स्वास्थ्य वर्धक विटामिनो की मात्रा अधिक होती है। गाय के शरीर पर प्रतिदिन हाथ फेरने मात्र से कई बीमारियां दूर होती है। गाय पालने से घर में वास्तु दोष नहीं रहता। गोपाल गो स्वामी ने कहा कि प्रत्येक हिदू को अपने घर में गाय पालकर उसकी सेवा करनी चाहिए। इस मौके पर अमूपुर गोशाला प्रधान प्रवीन गर्ग, राज मिगलानी, जगदीश राणा, लाभ सिंह, मेवा राम, गुलाब, सुशील, सुभाष दरड़, महिद्र चौहान गोंदर, जयपाल शर्मा, प्रताप राणा, रामदिया शर्मा, सतीश, रामपाल शर्मा, फूल सिंह प्रजापत, कुलदीप शर्मा, महिद्र गर्ग निगदू, संजय कोयर, तारा चंद मौजूद रहे।

Edited By: Jagran