जागरण संवाददाता, करनाल: राइस मिल संचालक राजेश सिगला के पूरे परिवार ने शनिवार की रात जिस हालात में बिताई। इसे सुनकर ही हर कोई सिहर उठता है। तीन बदमाशों ने पहले नौकर ओमबहादुर को गन प्वाइंट पर लिया तो फिर सभी को बंधक भी बना लिया।

पूरा परिवार पिस्तौल और चाकुओं की नोक पर मौत के साए में रहा तो बेखौफ बदमाश 45 मिनट तक घर को ऊपर की मंजिल तक खंगालते रहे। रात आठ बजकर 10 मिनट पर घर मे घुसे बदमाश वारदात को अंजाम देकर आठ बजकर 55 मिनट पर मनमर्जी से फरार हुए। मौत के खौफ से सहमा पूरा परिवार बदमाशों के चले जाने के भी करीब आधे घंटे बाद बाहर निकल पाया तो वहीं पुलिस को भी करीब साढ़े दस बजे ही सूचना दे पाए। पहले चर्चा रही कि गाड़ी ही ले गए, लेकिन जब भाजपा जिलाध्यक्ष योगेंद्र राणा सहित अन्य लोगों ने परिवार का हौसला बढ़ाया तो पूरी लूट का पता चल पाया।

पहले रेकी, फिर वारदात

बदमाश कई दिनों से राजेश सिगला परिवार की रेकी कर रहे थे। शायद यही कारण है कि उन्होंने राजेश सिगला के करीब 21 वर्षीय बेटे आयुष सिगला को चाकूनुमा धारदार हथियार की नोक पर लेते हुए कहा कि आयुष कल भी स्कूटर पर सवार होकर अलट पार्क में घुमने गया था। इसे जान से मार देंगे। यह सुनकर पूरा परिवार सहम गया और बदमाशों के कहे अनुसार उन्होंने पहले अपने जेवर उतार दिए तो फिर अलमारी की चाबी सौंप दी, जिसके बाद बदमाश मनमर्जी से लूटकर बेखौफ अंदाज में फरार हो गए। तरावड़ी में है राइस मिल

राजेश सिगला के घर में उनके माता-पिता सहित पूरा परिवार रहता है जबकि उनके दो भाई अलग-अलग समीप ही रहते हैं। तीनों तरावड़ी में ही राइस मिल चलाते हैं। भाई देवेंद्र सिगला ने बताया कि पहले उनके साथ कभी न किसी के साथ झगड़ा था और न ही उन्हें ऐसा आभास था कि ऐसी वारदात हो सकती है। इसी के चलते ही राजेश सिगला ने घर पर सीसीटीवी कैमरे भी नहीं लगवाए, लेकिन समीप ही एक घर के बाहर लगे कैमरे में बदमाश पैदल व कार में घुमते हुए दिखाई दिए है। पुलिस जांच कर रही है। लोकल भाषा बोल रहे थे बदमाश : आयुष

आयुष सिगला का कहना है कि बदमाशों ने पहले नौकर को गन प्वांइट पर लिया और फिर पूरे परिवार को बंधक बनाते हुए उन्हें भी तेजधार हथियार की नोक पर ले लिया। पूरा परिवार सहम गया था। अगर बदमाशों का कहना न मानते तो वे कुछ भी कर सकते थे। बदमाश उनके दादा को अलग कमरे में बिना कुंडी लगाए छोड़ गए थे, जिसके चलते ही वे बाहर निकल पाए। बदमाश लोकल भाषा बोल रहे थे। बदमाश वारदात कर गए और भनक तक नहीं लगी: योगेंद्र

भाजपा जिलाध्यक्ष योगेंद्र राणा ने बताया कि वे करीब साढ़े नौ बजे घर के बाहर किसी से मिलने निकले थे, लेकिन उस समय तक भी कोई हलचल नहीं थी। इसके काफी समय बाद राजेश सिगला के भाई ने उन्हें सूचना दी, जिस पर वह पत्नी सहित उनके घर पहुंचे तो पूरा परिवार उस समय भी दहशत में था। पुलिस चौकी के समीप उखाड़ी था एटीएम

सेक्टर नौ पुलिस चौकी से करीब 150 मीटर दूरी पर ही गत 14 जून को बदमाशों ने एक्सिस बैंक का 23 लाख की नकदी से भरा एटीएम उखाड़ ली थी। हालांकि गश्त कर रही पुलिस मौके पर पहुंच जाने के चलते बदमाश यह एटीएम ले जाने में सफल नहीं हो पाए थे, लेकिन पुलिस चौकी के समीप ऐसी वारदात देख हर कोई हैरान रह गया था। आज तक पुलिस इन बदमाशों का सुराग नहीं लगा पाई है। अब फिर करीब 400 मीटर दूरी पर बदमाशों ने राइस मिल संचालक राजेश सिगला के घर पर लूट की इतनी बड़ी वारदात को अंजाम दे दिया। जिससे स्पष्ट है कि बदमाशों में पुलिस का भी कोई खौफ नहीं है। 20 दिन पहले ही राइस मिल संचालक के घर बरसाई थी गोलियां

20 दिन पहले ही चार जनवरी को सेक्टर आठ वासी राइस मिल संचालक सुभाष सिगला के घर पर बदमाशों ने सुबह करीब छह बजे ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दी थी। हालांकि इस हमले में उनकी पत्नी बाल-बाल बच गई थी, लेकिन इस वारदात से पीडित व आसपास के लोग पूरी तरह से दहशत में आ गए थे। पुलिस ने इस वारदात को अंजाम देने के आरोपितों को काबू कर लिया है, लेकिन लोगों का कहना है कि पॉश एरिया में भी इस तरह की लगातार वारदातें बदमाशों के बुलंद हौसले दर्शा रही हैं, जिन पर पुलिस को जल्द अंकुश लगाना चाहिए।

Edited By: Jagran