हादसे में चालक व क्लीनर गंभीर रूप से घायल हो गए। संवाद सहयोगी, घरौंडा : दिल्ली-चंडीगढ़ नेशनल हाइवे पर अल सुबह बड़ा हादसा उस समय हो गया, जब एक कैंटर टक्कर लगने के बाद स्वागत द्वार पर ही जा गिरा। हादसे में चालक व क्लीनर गंभीर रूप से घायल हो गए।

बताया जा रहा है कि धान से भरा एक कैंटर अल सुबह करीब साढ़े पांच बजे घरौंडा से करनाल की ओर आ रहा था। जैसे ही केंटर मधुबन पुलिस अकादमी के समीप पुलिस थाने के समक्ष पहुंचा तो अचानक अनियंत्रित होने के बाद वहां नगर निगम की ओर से लगाए गए बड़े स्वागत द्वार से टकरा गया। इससे स्वागत द्वार का पोल टूट गया और भारी-भरकम स्वागत द्वार केंटर पर ही जा गिरा जबकि टक्कर लगने के बाद कैंटर भी पलट गया। हादसे की हुई जोरदार आवाज सुनकर आसपास के लोग व राहगीर एकत्रित हो गए और उन्होंने पुलिस को सूचना दी तो वहीं एंबुलेंस भी बुलाई गई। करीब 40 मिनट तक कड़ी मशक्कत करके केंटर से चालक व क्लीनर को गंभीर अवस्था में निकाला और एंबुलेंस से अस्पताल पहुंचाया। वहीं इस हादसे के बाद हाइवे की एक लेन पर जाम लग गया तो सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने क्रेन की मदद से केंटर व स्वागत द्वार को हटवाया, जिसके बाद वाहनों की आवाजाही सुचारू हो पाई।

वहीं समीप ही दुकान चलाने वाले गौरव, सागर, राजपाल सहित अन्य लोगों ने बताया कि हादसे के समय केंटर के आगे व पीछे कोई वाहन नहीं था, जिसके चलते यह हादसा और भी गंभीर होने से बच गया। आशंका है कि चालक को नींद की झपकी आने की वजह से ही केंटर अनियंत्रित होकर स्वागत द्वार से टकराया है। उधर मधुबन थाना प्रभारी सिद्धांत जैन का कहना है कि हादसे में घायल हुए चालक व क्लीनर की स्थिति फिलहाल गंभीर है, जिसके चलते वे कुछ बता पाने में सक्षम नहीं हैं।

Edited By: Jagran