जागरण संवाददाता, करनाल : उच्चतर विभाग की ओर से यूजी कक्षाओं की ऑनलाइन परीक्षाओं का पैटर्न अब विद्यार्थियों को समझ आने लगा है। दूसरे दिन विद्यार्थियों ने घर बैठे परीक्षा दी और उत्तर-पुस्तिका की पीडीएफ अपने कालेज की ई-मेल पर सबमिट की। परीक्षा में शुक्रवार को दोनों ही सत्रों में विद्यार्थियों को समय पर प्रश्न-पत्र मिला। इधर, पहले दिन के अनुभव के बाद दूसरे दिन की परीक्षा में ज्यादातर विद्यार्थियों ने ऑनलाइन मोड को चुना। कालेजों से गूगल मीट के माध्यम से ड्यूटी फ्लाइंग ने विद्यार्थियों पर निगरानी रखते हुए प्रश्न-पत्र और उत्तर पुस्तिकाओं की जांच की।

कालेजों के प्रबंधकों से मिली जानकारी के अनुसार, सुबह के सत्र में चार विषयों और शाम को महज एक विषय की परीक्षा ली गई। कुछ परीक्षार्थियों को परीक्षा के दौरान आने वाली परेशानियों को स्टाफ सदस्यों से दूर किया। परीक्षार्थी अनुज, सचिन ने बताया कि पहले दिन ऑनलाइन की समझ न होने के कारण कालेज में ऑफलाइन परीक्षा दी थी और शिक्षकों के सहयोग से पीडीएफ बनाई। अब पेपर डाउनलोड करने और पीडीएफ बनाने का तरीका समझ में आने पर घर पर बैठ परीक्षा दी ताकि कोरोना संक्रमण से बचा जा सके। राजकीय कन्या महाविद्यालय की प्राचार्या डा. अनुराधा पुनिया ने बताया कि ज्यादातर विद्यार्थी ऑनलाइन माध्यम चुनने लगे हैं। दूसरे दिन की परीक्षा में परेशानी कम हुई। विद्यार्थियों ने समय पर प्रश्न-पत्र डाउनलोड कर लिया। अधिकतर बच्चों की तय समय पर आंसरशीट भी सबमिट हो गई थी।

Edited By: Jagran